छत्तीसगढ़ PSC में बिलासपुर का दबदबा

बिलासपुर | संवाददाता: पीएससी 2015 के नतीजों में बिलासपुर का दबदबा कायम रहा. पीएससी में जिन 352 परीक्षार्थियों का चयन हुआ है उसमें से 250 छात्र-छात्राओं ने बिलासपुर में रहकर कोचिंग की है. बिलासपुर के दयालबंद, टिकरापारा, पंजाबी कालोनी. गांधी चौक के इलाकें में हजारों बच्चे किराये के मकानों में रहकर पीएससी एवं यूपीएससी की तैयारी करते हैं.

पहले मध्यप्रदेश के इंदौर की इस मामले में पहचान थी अब बिलासपुर ने उसका स्थान ले लिया है. यहां तक की अन्य प्रदेशों से भी छात्र-छात्रायें भी यहां आकर कोचिंग करते हैं.

हालांकि, छत्तीसगढ़ के अन्य शहरों में भी पीएससी एवं यूपीएससी की कोचिंग होती है परन्तु छात्र-छात्राओं की पहली पसंद बिलासपुर ही है.

बिलासपुर के दयालबंद, टिकरापारा तथा पंजाबी कालोनी में अब मकान मालिक इन्ही बच्चों को कमरा किराये से देने के लिये विशेष प्रबंध करके रखते हैं. इस कारण से आसपास टिफिन सेवा भी शुरु हो गई है जिससे कई परिवार जुड़े हुये हैं. इसी से उन परिवारों की भी रोजी-रोटी चलती है.

इन इलाकों की कुछ महिलायें बाहर नौकरी न करके घर से ही टिफिन देने को वरीयता देती हैं. आसपास कई छोटे-छोटे होटल तथा ठेले लग गये हैं जिनमें इन बच्चों को नाश्ता मिल जाता है.

error: Content is protected !!