कैलिफोर्निया में गुरुद्वारे में तोड़फोड़

Wednesday, July 31, 2013

A A

सिखो का गुरुद्वारा

वाशिंगटन | एजेंसी : कैलिफोर्निया के रिवरसाइड के एक सिख गुरुद्वारे में तोड़ फोड़ की दुखद घटना सामने आई है. तोड़ फोड़ के बाद गुरुद्वारे के दीवारों पर टेररिस्ट शब्द लिख दिया गया था. इसे नस्लीय
हिंसा का नतीजा माना जा रहा है.

हैरत की बात है कि अमरीका जैसे आजाद ख्यालों वाले देश में अल्पसंख्यकों पर नस्लीय हमले किये जाते हैं. यह घटना अमरीका के सिख संगठनों के अनुसार 29-30 जुलाई के रात की है. सिख अमेरिकन लीगल डिफेंस एंड एजुकेशन फंड (एसएएलडीईएफ) ने इस घटना की कड़े शब्दो में निंदा की है तथा विरोध जताया है. इस संगठन ने घटना की जांच की मांग की है तथा दोषियों को सजा का हकदार माना है.

अमरीका में पिछले वर्ष विस्कॉन्सिन में ओक क्रीक गुरुद्वारे पर हमला किया गया था. जिसमें छः लोगो की जान चली गई थी. एसएएलडीईएफ के मुताबिक, वह रिवरसाइड काउंटी के प्रशासकीय विभाग, पुलिस विभाग, संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) तथा न्याय विभाग के संपर्क में है

अमरीका में 2011 में सैक्रमंटो में अज्ञात लोगों ने दो बुजुर्ग सिखों पर हमला किया था, जिनमें से एक की मौत हो गई थी. इस घटना से आसपास के इलाकों में दहशत फैल गई थी, जहां अच्छी-खासी संख्या में सिख समुदाय के लोग रहते हैं.

इसी साल वाशिंगटन में एक गुरुद्वारे के बाहर सिख बुजुर्ग को लोहे के राड से बुरी तरह पीटा गया था. अमरीका जैसा देश जो सारी दुनिया में मानवधिकार का झंडा लिये घूमता है अपने ही जमींन पर सिखों को सुरक्षा देने में नाकाम है. जबकि अमरीका में पुलिस अत्याधुनिक साजो सामान से लैस रहती है.

Tags: , , ,