यह भारत की सदी है-मोदी

कैलिफोर्निया | डेस्क : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कैलिफोर्निया में भगत सिंह को याद किया. भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुये मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भगत सिंह से की और उसका समापन भी भगत सिंह से हुआ.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया भारत के बारे में अपनी सोच बदलने के लिए मजबूर हुई है. जो बदलने के लिए तैयार नहीं हैं वे 21वीं शताब्दी में अप्रासंगिक हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि भारत को लेकर दुनिया की सोच में बदलाव मोदी के कारण नहीं बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति के कारण आया है.

नरेंद्र मोदी ने कहा कि पहले लोग ‘ब्रेन ड्रेन’ की बात करते थे, लेकिन मैं इसे ‘ब्रेन डिपॉज़िट’ कहता हूं. ये ब्रेन गेन है जिसे ब्याज़ समेत लौटाने का वक़्त आ गया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत उपनिषद से उपग्रह तक पहुंचा है. कई विभागों में अंतरिक्ष तकनीक का इस्तेमाल हो रहा है. मंगल मिशन की तरह मैं भी पहली ही बार में सफल रहा.

उन्होंने कहा कि भारत बड़े देशों में सबसे तेज़ गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है, दुनिया भारत के साथ जुड़ने को लालायित है. दुनिया मानने लगी है कि 21वीं सदी भारत की होगी. देश की 65 प्रतिशत जनसंख्या 35 साल की उम्र से कम है.

अपनी सरकार की उपलब्धि गिनाते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले बेटी, बेटा और दामाद पैसा बनाने का काम करते थे. लेकिन सरकार बनने के 16 महीने के बाद भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं. बिचौलियों के दिन लद गए हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘आतंकवाद’ और ग्लोबल वॉर्मिंग दुनिया के सामने दो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं. भारत हर संकट का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है. उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र अभी ‘आतंकवाद की परिभाषा’ भी तय नहीं कर सका है. ‘अच्छे और बुरे आतंकवाद’ से मानवता की रक्षा नहीं हो सकती.

अपने भाषण में मोदी ने महात्मा गांधी और भगवान बुद्ध को भी याद किया.

error: Content is protected !!