अस्तित्व बचाने अल कायदा की धमकी

Friday, September 5, 2014

A A

अल-जावाहिरी

नई दिल्ली | एजेंसी: अपना अस्तित्व को बचाने के लिये अल-जवाहिरी ने ‘जिहाद का झंडा बुलंद’ करने का ऐलान किया है. गौरतलब है कि आतंकवादी संगठन अल कायदा के सरगना आयमन अल-जवाहिरी ने एक वीडियो संदेश में पूरे भारतीय उपमहादेश में ‘जिहाद का झंडा बुलंद’ करने के उद्देश्य से अपने संगठन की दक्षिण एशिया के लिए इकाई के गठन की घोषणा की है. अल कायदा का ऐलान ऐसे समय में सामने आया है, जब सुन्नी चरमपंथियों के आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट इराक और सीरिया में बड़े भूभाग पर कब्जा कर अल कायदा के अस्तित्व को चुनौती दे रहा है. थिंक टैंक पॉलिसी फॉर स्टडीज के निदेशक भास्कर ने कहा कि अल कायदा का नया वीडियो अपने समय को लेकर महत्व रखता है.

उन्होंने कहा कि वीडियो उस समय सामने आया है जब सुन्नी जेहादी सीरिया और इराक में क्रूर कार्रवाइयों में जुटे हुए हैं. विशेषज्ञों की राय है कि ‘अल कायदा और जवाहिरी खुद को इस्लामिक स्टेट के विश्वसनीय विकल्प के रूप में पेश करने की कोशिश में जुटे हैं.’

इस घोषणा से भारत ने गंभीर चिंता जताई है. ‘बीबीसी’ के अनुसार, पाकिस्तान में मारे जा चुके ओसामा बिन लादेन के उत्तराधिकारी जवाहिरी ने इंटरनेट पर डाली गई 55 मिनट की इस वीडियो में अफगान तालिबान सरगना मुल्ला उमर को नए सिरे से वफादारी निभाने का वचन दिया है.

जवाहिरी की घोषणा के बाद गृह मंत्रालय और खुफिया विभाग चौकस हो गया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने खुफिया ब्यूरो से इस वीडियो की सत्यता जांचने के लिए कहा है.

जवाहिरी ने भारतीय उपमहाद्वीप में अल कायदा का गठन करने की घोषणा अरबी और उर्दू दोनों भाषाओं में की.

जवाहिरी ने कहा, “भारतीय उपमहाद्वीप में अल कायदा का गठन बर्मा, बांग्लादेश और भारतीय राज्य असम, गुजरात, जम्मू एवं कश्मीर में रहने वाले मुसलमानों के लिए एक अच्छी खबर होगी, जहां उन्हें अन्याय और उत्पीड़न से बचाया जाएगा.”

आधिकारिक सूत्रों ने नई दिल्ली में कहा कि खुफिया ब्यूरो को अल कायदा के उस वीडियो फुटेज की प्रमाणिकता का पता लगाने के लिए कहा गया है.

सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो के संबंध में गुरुवार को खुफिया ब्यूरो और रिसर्च एंड एनालाइसिस विंग के प्रमुखों के साथ बैठक की. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजत डोवाल भी बैठक में उपस्थित थे.

ज्ञात्वय रहे कि इस्लामिक स्टेट के सरगना अबु बकर अल-बगदादी ने खुद को खलीफा घोषित करते हुए दुनियाभर के मुस्लिमों से संगठन के साथ जुड़ने का आह्वान किया है.

‘बीबीसी’ के अनुसार, आतंकवाद-निरोधी विशेषज्ञों ने कहा कि अल कायदा इस्लामिक स्टेट के साथ दुनियाभर के युवाओं को अपने संगठन में शामिल करने की होड़ कर रहा है.

‘बीबीसी’ ने कहा कि इस्लामिक स्टेट से जुड़े पाकिस्तानी आतंकवादियों ने पेशावर में पर्चियां बांटकर लोगों का समर्थन और इस्लामिक खलीफा की स्थापना के लिए मशविरा मांगा है.

सूत्रों ने कहा कि खतरे की आशंका को देखते हुए सभी राज्यों को अलर्ट जारी कर दिया गया है.

अल कायदा के वीडियो पर उप्र में भी अलर्ट
अल कायदा के हाल में जारी वीडियो में उसके नेता अल जवाहिरी के इस दावे पर कि उसके संगठन ने भारत में भी एक समानांतर संगठन खड़ा किया है, उत्तर प्रदेश में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. सुरक्षातंत्र हर गतिविधि पर पैनी निगाह रखे हुए है.

पुलिस महानिरीक्षक कानून व्यवस्था अमरेंद्र सिंह सेंगर ने बताया कि केंद्र को मिले 55 मिनट के इस वीडियो में अल जवाहिरी ने कहा कि इस संगठन का नाम कायदात अल जिहाद है. उसने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर और गुजरात के मुसलमानों को छुटकारा दिलाया जाएगा. इसके साथ ही कुछ अन्य गतिविधियां भी इस संगठन द्वारा की जा सकती हैं, जो देशद्रोह की श्रेणी में आती हैं. केंद्र के निर्देश के बाद सूबे के अफसरों को सतर्क कर दिया गया है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश की सभी एजेंसियां आपस में चर्चाएं कर रही हैं और केंद्रीय नेतृत्व से संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि समय-समय पर देशद्रोही गतिविधियों में लिप्त संगठनों के बारे में भी आईजी व डीआईजी को एडवाइजरी जारी की जाती है. इस समय भी वह एडवाइजरी अमल में लाई जा सकती है.

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,