एआईएडीएमके ने पूर्व पीएम से जवाब मांगा

Wednesday, July 23, 2014

A A

मनमोहन सिंह -पूर्व प्रधानमंत्री

नई दिल्ली | एजेंसी: एआईएडीएमके ने राज्यसभा में न्यायपालिका में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से जवाब मांगा. गौरतलब है कि न्यायपालिका में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भारतीय प्रेस परिषद के अध्यक्ष न्यायाधीश काटजू के खुलासों का जिक्र करते हुए एआईएडीएमके नेता वी मैत्रेयन ने कहा कि इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को स्पष्टीकरण देना चाहिए.

मैत्रेयन ने कहा, “मनमोहन सिंह देश को जवाब दें. उन्हें अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए. उनकी चुप्पी आरोपों की पुष्टि करती है.”

उपसभापति पीजे कुरियन ने हालांकि कहा कि इसका जवाब देने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री उत्तरदायी नहीं हैं. कुरियन ने कहा, “अब वह प्रधानमंत्री नहीं हैं, इसलिए उनसे उत्तर की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए.”

काटजू ने रविवार को अपने ब्लॉग में कहा था कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के दौरान मद्रास उच्च न्यायालय में एक न्यायाधीश की नियुक्ति खुफिया ब्यूरो द्वारा उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप से संबंधित रिपोर्ट दिए जाने के बावजूद की गई.

एआईएडीएमके के सदस्यों ने वर्ष 2004 में अपने प्रतिद्वंद्वी द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पर मद्रास उच्च न्यायालय में न्यायाधीश की नियुक्ति में हस्तक्षेप का आरोप लगाया. उस वक्त काटजू मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश थे. एआईएडीएमके ने पूछा कि डीएमके में वह कौन थे, जिन्होंने न्यायाधीश के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए संप्रग पर दबाव बनाया?

Tags: , , , , , , , ,