उर्मिलेश होंगे पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति?

रायपुर | संवाददाता: हिंदी के वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश छत्तीसगढ़ की कुशाभाउ पत्रकारिता विश्वविद्यालय के नये कुलपति हो सकते हैं. शिक्षा विभाग से जुड़े सूत्रों ने कहा है कि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो उर्मिलेश के नाम की घोषणा जल्दी ही की जा सकती है.

कुशाभाउ पत्रकारिता विश्वविद्यालय में इस साल मार्च से कुलपति का पद रिक्त है. विश्वविद्यालय के कुलपति एमएस परमार के इस्तीफ़े के बाद से ही नये कुलपति के लिये कई नाम चर्चा में थे.


राज्य सरकार ने कुलपति की अहर्ताओं में भी परिवर्तन किया था और पत्रकारिता में 20 साल के अनुभव वालों को भी इसके लिये योग्य माना गया था. यही कारण है कि राज्य और राज्य से बाहर के कई पत्रकारों का नाम इस पद के लिये चर्चा में रहा. कई नामों को लेकर कयास चलते रहे.

इस बीच कुलपति चयन की कमेटी ने नामों का एक पैनल राज्यपाल को सौंपा था.

उर्मिलेश

देश के जाने माने पत्रकार उर्मिलेश ने नवभारत टाइम्स और हिंदुस्तान समेत कई अख़बारों में काम किया है. वे राज्यसभा टीवी के कार्यकारी निदेशक भी रहे हैं. इसके अलावा वे द वायर के लिये भी एक कार्यक्रम पिछले कुछ समय से कर रहे हैं.

इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर और 1981 में जेएनयू से एमफिल करने वाले उर्मिलेश की कश्मीर-विरासत और सियासत, झारखंड-जादुई ज़मीन का अंधेरा, बिहार का सच, झेलम किनारे दहकते चिनार, राहुल सांकृत्यायन- सृजन और संघर्ष और क्रिस्टेनिया मेरी जान जैसी किताबें चर्चित रही हैं.

दलित अधिकार के पैरोकार के तौर पर उर्मिलेश की अपनी खास पहचान रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!