छत्तीसगढ़ में 5 सप्ताह में 5 जवानों ने की आत्महत्या

रायपुर | संवाददाता : छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबल के जवानों की आत्महत्या का सिलसिला थमता नज़र नहीं आ रहा है. पुलिस के अनुसार गुरुवार को नारायणपुर में एक हेड कांस्टेबल ने सर्विस राइफल से गोली मार कर आत्महत्या कर ली.

हेड कांस्टेबल अरुण उइके कोहकामेटा थाने में पदस्थ थे.

वे धमतरी जिले के सिहावा के रहने वाले थे.

पिछले महीने भर में सुरक्षा बल के जवानों की ये चौंथी आत्महत्या है.

इनमें से अधिकांश मामलों में यही जानकारी सामने आई है कि मानसिक तनाव के कारण जवान ने आत्महत्या कर ली.

16 अक्टूबर 2022
मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी जिले के डोमीकला बेस कैंप में 35 साल के आरक्षक वेदराम ने अपनी सर्विस राइफल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी.
वे बिलासपुर ज़िले के कोटा के रहने वाले थे.

10 अक्टूबर 2022
गरियाबंद के मैनपुर में 35 साल के दिनेश कोसले नामक एक आरक्षक ने अपनी एके 47 से गोली मार कर खुदकुशी कर ली थी.
वे रायपुर के मंदिर हसौद इलाके के रहने वाले थे.

5 अक्टूबर 2022
बीजापुर जिले में ग्राम धरोना में तैनात 15वीं बटालियन, छत्तीसगढ़ आर्म्स फोर्स के जवान सुनील कुमार ने सर्विस रायफल से गोली मार कर आत्महत्या कर ली थी.
वे मध्य प्रदेश के भिंड के रहने वाले थे.

29 सितंबर 2022
नारायणपुर के कैंप कार्यालय में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के सब-इंस्पेक्टर 29 वर्षीय सचिन ढुल ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली.
वे दिल्ली के रहने वाले थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!