90 दिनों में फिर दुनिया में कोहराम मचाएगा कोरोना?

नई दिल्ली | संवाददाता: क्या कोविड फिर से कोहराम मचाने वाला है? कम से कम चीन के कुछ विशेषज्ञ तो यही मान रहे हैं कि अगले 90 दिनों में कोविड दुनिया की 10 फीसदी आबादी को अपनी चपेट में ले सकता है. इस महामारी से लाखों लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है.

चीन के हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं. 2020 में जिन लोगों ने कोरोना को लेकर चेतवानी जारी की थी, उनमें से एक एरिक फेइगल डिंग ने कहा है कि कोरोना के दुगने होने की रफ़्तार अब दिन में नहीं, घंटों में हो सकती है. उन्होंने चीन में कोरोना से होने वाली मौत और अंतिम संस्कार की रफ़्तार पर भी गहरी चिंता जताई है.

उन्होंने चीन की ख़बरों के हवाले से कहा है कि बीजिंग में नॉनस्टॉप दाह संस्कार हो रहे हैं, मुर्दाघर शवों से भरे हुए हैं. इन शवों के लिए और प्रशीतित कंटेनरों की जरूरत है. 24/7 अंत्येष्टि हो रही है. 2000 शव दाह संस्कार के लिए प्रतीक्षा में हैं.

चीन के सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि अगले कुछ महीनों में संभवत: 80 करोड़ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं. कई लोगों ने आशंका जताई है कि 15 लाख से अधिक लोग कोरोना से मर सकते हैं.

येल विश्वविद्यालय में एक वैश्विक स्वास्थ्य शोधकर्ता और चीन की स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली के विशेषज्ञ शी चेन कहते हैं- “हाल ही में, चीन सीडीसी के उप निदेशक, शियाओफ़ेंग लियांग, जो मेरे एक अच्छे दोस्त हैं, सार्वजनिक मीडिया के माध्यम से घोषणा कर रहे थे कि पहली कोविड लहर वास्तव में लगभग 60% आबादी को संक्रमित कर सकती है.” इसका मतलब है कि अगले 90 दिनों में धरती की लगभग 10% आबादी संक्रमित हो सकती है.

महामारी विज्ञानी बेन काउलिंग इस भविष्यवाणी से सहमत हैं. काउलिंग, जो हांगकांग विश्वविद्यालय में हैं, कहते हैं- “दुर्भाग्य से कोरोना के मामलों में यह उछाल बहुत तेजी से आने वाला है. यह सबसे भयावह बात है.”

उन्होंने कहा- “अगर यह धीमा होता, तो चीन के पास तैयारी करने का समय होता. लेकिन यह बेहद तेज़ है. बीजिंग में, पहले से ही कोरोना कहर बरपा रहा है और अन्य प्रमुख शहरों में यह तेज़ी से फैल रहा है.

काउलिंग का कहना है कि यह वायरस, चीन में पिछली महामारी की तुलना में कहीं अधिक तेज़ी से फैल रहा है.

काउलिंग कहते हैं-“वायरस की संचारण क्षमता का अनुमान लगाने के लिए, वैज्ञानिक अक्सर प्रजनन संख्या या R संख्या नामक एक पैरामीटर का उपयोग करते हैं. मूल रूप से, R संख्या आपको बताती है कि एक बीमार व्यक्ति औसतन कितने लोगों को संक्रमित करता है. उदाहरण के लिए, कोविड महामारी की शुरुआत में, 2020 की शुरुआत में, R संख्या लगभग 2 या 3 थी.”

उस वक्त हर शख्स औसतन 2 से 3 लोगों में वायरस फैलाता था. अध्ययनों में पाया गया है कि पिछली सर्दियों में अमरीका में ऑमिक्रॉन उछाल के दौरान, R संख्या लगभग 10 या 11 तक पहुंच गई थी.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के वैज्ञानिकों का अनुमान है कि चीन में R संख्या वर्तमान में 16 है. काउलिंग कहते हैं- “यह वास्तव में उच्च स्तर की संप्रेषणीयता है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!