छत्तीसगढ़रायपुर

रायपुर में 25% से अधिक लोग कोरोना संक्रमित

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में जितने लोगों के सैंपल लिये गये हैं, उनमें 25 प्रतिशत से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित माये गये हैं. आंकड़ों के अनुसार कोरोना के संक्रमण में लाकडाउन से कोई फर्क नहीं पड़ा है.

छत्तीसगढ़ के तीन ज़िलों में लागू लॉकडाउन मंगलवार से ख़त्म हो रहा है. जिन ज़िलों में लॉकडाउन ख़त्म किया जा रहा है, उनमें रायपुर, बिलासपुर और सरगुजा शामिल हैं.

एक सप्ताह लॉकडाउन के बाद रायपुर ज़िला प्रशासन ने माना है कि कोरोना संक्रमण रोकने के लिये लॉक डाउन स्थाई समाधान नहीं है. इससे बचने के लिये शारीरिक दूरी, मास्क और समय-समय पर हाथ धोना और सैनिटाइज करना ज़रुरी है.

लाकडाउन के दौरान मरीज़ों की संख्या में भी कमी आने का दावा किया जा रहा है. लेकिन आंकड़े बताते हैं कि लाकडाउन के दौरान कम लोगों की जांच के भी, उनमें संक्रमितों की संख्या में कोई खास कमी नहीं आई है.

रायपुर में लॉकडाउन से पहले के 6 दिनों के आंकड़े बताते हैं कि राजधानी में इन 6 दिनों में 16626 लोगों के सैंपल लिए गये, जिनमें से 4457 लोग कोरोना से संक्रमित पाये गये. यह कुल सैंपल का 26.80 प्रतिशत है.

खैरुवा722
लोढ़ा, तंवर1100
मोवार, मौवार19322
रजवार177946
अघरिया179011
तिऊर, तूरी2151
भारुड़474
तेलंगा, तिलगा15565
राघवी705
राजभर, रजभर2533
खारोल439
सरगरा445
गोलान, गवलान, गौलान711
रज्जड़, रजझड़613
जादम639
दांगी589
गयार, परधनिया12469
कुड़मी1081
बया महरा, कौशल, वया, बया20013
पिंजारा (हिंदू)1274
ईसाई धर्म अपनाने वाली अजा10769
आंजना357
थोरिया, थुरिया, थुड़िया1678
गेहलोत, मेवाड़ा1496
रेवारी221
रुआला, रूहेला438
मुस्लिम धर्मावलंबी381323
शौण्डिक, सुण्डी, सूड़ी एवं सोढ़ी30660

लाकडाउन के दौरान के 6 दिनों के आंकड़ों के अनुसार इन 6 दिनों में कुल 15002 लोगों के सैंपल लिये गये. हालांकि यह लाकडाउन से पहले लिये गये सैंपलों की संख्या में कम था लेकिन मरीज़ों के प्रतिशत की बात करें तो इसमें लगभग 1.29 प्रतिशत की कमी नज़र आ रही है.

लाकडाउन के दौरान लिये गये 15002 सैंपल में से 3828 लोग कोरोना से संक्रमित निकले. यह कुल सैंपल का 25.51 प्रतिशत है.

भूलिया, भोलिया, भुलिया5161
पोबिया6164
खर्रा, खडरा, खोडरा1679
रौनियार, कमलापुरी10031
बिंद, बींद, बिन्द, बीन्द2446
झोरा2876

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!