छत्तीसगढ़: जनदर्शन के बाद संगत दर्शन

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में पंजाब के समान संगत दर्शन कार्यक्रम होगा. छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री रमन सिंह के निवास पर जनदर्शन कार्यक्रम होता रहता है जिसमें जनता सीधे जाकर उनसे मिल सकती है. अब मुख्यमंत्री रमन सिंह पंजाब के अकाली दल के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के समान संगत दर्शन करने की योजना बना रहें हैं. इस संगत दर्शन का उद्देश्य लोक कल्याण और विकास है.

अभी छत्तीसगढ़ में चल रहे जनदर्शन के उलट इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री खुद विभिन्न विधानसभाओं, जिलों तथा गांवों में जाकर संगत दर्शन का कार्यक्रम आयोजित करेंगे. जिसमें वहां के लोग सीधे आकर उनसे मिल सकेंगे तथा अपनी समस्यायें रख सकेंगे.

पंजाब में मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल वहां संगत दर्शन के कार्यक्रम के दौरान ही मिलने वाली समस्याओं का समाधान करते जाते तथा वहीं से अधिकारियों को निर्देश देते रहते हैं. इससे वे आम जनता से उनके इलाके में जाकर सीधे रूबरू होते हैं. इसका पंजाब की जनता में अच्छा प्रभाव पड़ रहा है.

जाहिर है कि छत्तीसगढ़ में भी मुख्यमंत्री रमन सिंह इसी तरह से जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं से रूबरू होंगे तथा उनका समाधान करेंगे.

इसकी तैयारी तथा इसे समझने के लिये दो सदस्यीय टीम को पंजाब में चल रहे इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी लेने के लिए भेजा था. रमन सिंह के विशेष कार्य अधिकारी अरुण बिसेन और जनसंपर्क निदेशक सुकुमा टोप्पो गुरदासपुर में गुरुवार को पंजाब के मुख्यमंत्री के संगत दर्शन कार्यक्रम के दौरान मौजूद रहे.

वैसे छत्तीसगढ़ में लोक सुराज अभियान तथा ग्राम सुराज अभियान भी चलाया जाता है जिसके तहत मुख्यमंत्री तथा आला अफसर गांवों में जाकर जनता की समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करते हैं.

यह लोक सुराज अभियान तथा ग्राम सुराज अभियान साल में माहभर ही चलता है जबकि संगत दर्शन कार्यक्रम जनदर्शन के समान साल भर चलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!