छत्तीसगढ़: नोटबंदी से परेशान ‘आम’

बिलासपुर | संवाददाता: केन्द्र सरकार के नोटबंदी से छत्तीसगढ़ में भी आम आदमी परेशान हो रहा है. एक तरफ पुराने 500 व 1000 के नोटों को अवैध घोषित किये जाने से शनिवार को मजदूरों को ठेकेदारों द्वारा पूरे हफ्ते की मजदूरी देने में परेशानी आई. वहीं, बैंकों तथा एटीएम मशीनों में भीड़ के चलते लोगों के पास वैध नगदी की कमी हो गई है.

दूसरी तरफ, इसका सीधा असर बाजार में देखने को मिल रही है. पिछले तीन दिनों से बिलासपुर के बाजार में उठाव देखने को नहीं मिल रहा है. लोग केवल जरूरत का सामान ही खरीद रहें हैं. उसमें भी उन्हें कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है.


शुक्रवार को बिलासपुर के एटीएम मशीनों के सामने सुबह से लंबी-लंबी कतारे लगी थी अभी सभी लोगों ने पैसे नहीं निकाले ते कि दोपहर 12 बजे तक एटीएम ड्राई हो गई. खबर है कि बिलासपुर के सभी एटीएम मशीनों को मिलाकर सुब 10 बजे पांच करोड़ रुपये डाले गये थे.

ग्राहकों की परेशानी को देखते हुये कुछ बैंकों ने फिर से शाम को एटीएम में पैसे डाले. शुक्रवार को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के रेलवे के तितली चौक स्थित एटीएम मशीने के सामने सड़क तक लाइन लगी थी. एटीएम के ड्राई हो जाने के बाद भी लोग इस उम्मीद से खड़े थे कि कहीं उसे फिर से भर दिया जायेगा.

जिनके पास एटीएम कार्ड नहीं है उन्हें भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बैंकों में भीड़ के कारण वे पैसे नहीं निकाल पा रहे हैं.

वहीं, जिन लोगों ने एक बार अपने आईडी से चार हजार रुपये बदल लिये हैं बैंक उन्हें दूसरी बार उस आईडी से नोट बदलने की सुविधा नहीं दे रहा है. आम जनता को पूरी जानकारी नहीं होने के कारण नोटबंदी के बाद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!