मुंबई में मोदी,दिल्ली में केजरीवाल आगे: सर्वे

Tuesday, January 14, 2014

A A

नरेंद्र मोदी-अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली | संवाददाता: एक सर्वे के अनुसार 2014 के लोकसभा चुनाव में मुंबई से मोदी तथा दिल्ली में केजरीवाल का जादू चलेगा. सोमवार को एबीपी-नेल्शन के सर्वे से यह बात ऊभर कर सामने आयी है कि 2014 के चुनाव में मोदी-केजरीवाल की पार्टी भाजपा तथा आम आदमी पार्टी देश की आर्थिक राजधानी मुंबई तथा राजनैतिक राजधानी दिल्ली में आगे रहेगी. इस सर्वे में दोनों की जगहों पर कांग्रेस पिछड़ती नजर आ रही है. ऐसा लगता है कि राहुल गांधी का असर मुंबई तथा दिल्ली में नहीं चलने वाला है.

दिल्ली 2014- देश की राजधानी दिल्ली में 2014 के लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिलने की संभावना है. आम आदमी पार्टी को दिल्ली में 57 फीसदी मत तथा 6 सीटें मिवने जा रही है. भाजपा दिल्ली में दूसरे नंबर की पार्टी रहेगी. भाजपा को दिल्ली में 22 फीसदी मत तथा 1 लोकसभा की सीट मिलने की बात इस सर्वे में की गई है. वहीं कांग्रेस को 15 फीसदी मत मिलेंगे तथा कोई भी सीट नहीं मिलने जा रही है.

दिल्ली 2009-
यदि 2009 के लोकसभा चुनाव के नतीजों से इसकी तुलना करे तो कांग्रेस पार्टी को 57 फीसदी मत तथा सभी 7 सीटें मिली थी. 2009 में भाजपा 35 फीसदी मतो के साथ दूसरे नंबर पर थी परन्तु उसने एक भी सीट हासिल नहीं किया था.

निष्कर्ष-सर्वे के आकड़े बताते हैं कि कांग्रेस के मत 42 फीसदी कम होने जा रहें हैं वहीं भाजपा के मतो में 13 फीसदी की कमी आयेगी. आकड़ो को गहराई से देखने पर पता चलता है कि कांग्रेस-भाजपा के 55 फीसदी मत आम आदमी पार्टी को मिलने जा रहें हैं. आम आदमी पार्टी को 2 फीसदी मत और मिलने जा रहें हैं. आप को कुल 57 फीसदी मत मिलने जा रहें हैं. इससे यह बात साबित होता है कि पिछले एक साल में आम आदमी पार्टी ने दिल्लीवासियों को किस गहराई से प्रभावित किया है.

मुंबई 2014- देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सबसे ज्यादा सीटें भाजपा को मिलने जा रही हैं. मुंबई में आम आदमी पार्टी का जादू दिल्ली के समान नहीं चलने जा रहा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन को 30 फीसदी मत तथा 6 लोकसभा की सीटें मिलने जा रही हैं. कांग्रेस गठबंधन को 21 फीसदी मतो के साथ 3 सीटें ही मिलने जा रही है. आम आदमी पार्टी को मुंबई में 17 फीसदी मतो के साथ केवल 1 सीट मिलेगी. मुंबई में अन्य पार्टियों को 32 फीसदी मत मिलेंगे परन्तु एक भी लोकसभा की सीट नहीं मिलेगी.

मुंबई 2009- मुंबईके लोकसभा चुनाव के नतीजों से इसकी तुलना करने पर पता चलता है कि भाजपा गठबंधन को करीब 30 फीसदी मत तथा 1 लोकसभा की सीट मिली थी. जबकि कांग्रेस गठबंधन को 37 फीसदी मत तथा 8 सीटें मिली थी. अन्यों को मुंबई में 2009 में 33 फीसदी मत मिले थे.

निष्कर्ष- मुंबई के नतीजे दिल्ली से उलट है. यहां आम आदमी पार्टी के कारण भाजपा को लाभ होने जा रहा है क्योंकि कांग्रेस के मतों में करीब 16 फीसदी का नुकसान होगा जो आम आदमी पार्टी को झोली में जा रहा दिखता है. इससे भाजपा गठबंधन पिछले बार के मत फीसदी के बावजूद 5 सीटें और पाने जा रही है.

पीएम उम्मीदवार दिल्ली-
प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को रूप में दिल्ली में भाजपा के नरेन्द्र मोदी सबसे लोकप्रिय हैं. दूसरे स्थान पर आप के अरविंद केजरीवाल हैं, राहुल गांधी नंबर तीन पर हैं. दिल्ली में 42 फीसदी लोग अरविंद केजरीवाल को पीएम के रूप में देखना चाहतें हैं तो 45 फीसदी लोगों की पसंद नरेन्द्र मोदी हैं. दिल्ली के केवल 11 फीसदी लोग राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के रूप में पसंद करते हैं.

पीएम उम्मीदवार मुंबई- देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 51 फीसदी लोग नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री को रूप में देखना चाहते हैं वहीं अरविंद केजरीवाल को 18 फीसदी लोग प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं. कांग्रेस के राहुल गांधी 22 फीसदी मतो के साथ दूसरे नंबर पर है. सबसे दिलचस्प बात यह है कि मुंबई के 9 फीसदी की पसंद प्रधानमंत्री के रूप में इनमें से कोई नहीं है.

निष्कर्ष- भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी सबसे लोकप्रिय हैं. इन्हें कुल 48 फीसदी लोगों का समर्थन प्राप्त है. अरविंद केजरीवाल को 31 फीसदी लोगों का समर्थन मिला है. कांग्रेस के राहुल गांधी को 22 फीसदी लोग प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं.

Tags: , , ,