समाज का ध्रुवीकरण रोकें: नीतीश

Wednesday, October 30, 2013

A A

नीतीश कुमार-पूर्व मुख्यमंत्री

नई दिल्ली | एजेंसी: नीतीश कुमार ने वाम दलों द्वारा बुलाई सभा में कहा कि समाज का ध्रुवीकरण किया जा रहा है जिसे रोकने की जरूरत है. उन्होंने कहा, “हमें इन बातों का विरोध करना चाहिए. समाज के ध्रुवीकरण का प्रयास किया जा रहा है, विवाद पैदा करने की कोशिश की जा रही है.”

अगले लोकसभा चुनाव को ध्यान में रख कर वामपंथी दलों की ओर से बुलाए गए सम्मेलन में नीतीश ने कहा कि पूरे देश में सांप्रदायिक तनाव पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा, “यह साफ है कि सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है.” उन्होंने कहा कि हम ऐसा नहीं होने देंगे.

नीतीश कुमार ने कहा कि धार्मिक गतिविधियों पर कोई रोक नहीं है, और ऐसी रोक लगाई भी नहीं जानी चाहिए, “लेकिन हर चीज के लिए एक समय निर्धारित होता है. इन दिनों हर समय धार्मिक यात्राएं निकाली जा रही हैं.”

विश्व हिंदू परिषद जैसे संगठनों की तरफ स्पष्ट इशारा करते हुए नीतीश ने कहा कि कुछ संगठन ऐसे अवसरों पर ऐसी झांकियां प्रदर्शित करते हैं जिसका मुख्य मकसद कुछ समुदायों की भावना को ठेस पहुंचाना होता है.

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि “कुछ लोगों को हमारी गंगा-जमुना तहजीब पसंद नहीं..उनका मानना है कि हिंसा हुई, खून-खराबा हुआ तो उन्हें उसका लाभ मिलेगा.”

भाजपा या अपनी पार्टी जनता दल का नाम लिए बगैर नीतीश कुमार ने जून महीने में 17 वर्ष पुराना गठबंधन खत्म करने के अपने फैसले को न्यायसंगत ठहराया.

नीतीश ने कहा, “हमने सिद्धांतों के आधार पर कुछ निर्णय लिए.. हमने तय कर लिया था कि इस स्थिति का सामना करेंगे, परिणाम चाहे जो भी हो.”

नीतीश ने धर्मनिरपेक्ष ताकतों में अल्पसंख्यक समुदायों का प्रतिनिधित्व बढ़ाने का भी आह्वान किया.

Tags: , , ,