प्रीति के शीलभंग के आरोप में गिरफ्तारी तय

Saturday, June 14, 2014

A A

प्रीति जिंटा-अभिनेत्री

मुंबई | संवाददाता: प्रीती जिंटा की शिकायत के मामले में नेस वाडिया गिरफ्तार हो सकते हैं. प्रीती जिंटा ने उद्योगपति नेस वाडिया के ख़िलाफ़ धारा 354 के तहत दर्ज किया गया है. आम भाषा में कहें तो धारा 354 का मतलब शीलभंग होता है. यह एक गैरजमानती मामला है और इस मामले में नेस वाडिया को गिरफ्तार किया जा सकता है.

प्रीति जिंटा ने कहा है कि नेस वाडिया के मामले में उन्होंने चुप रहने के बजाये लड़ने का सकल्प लिया है. उन्होंने कहा कि मेरे लिए यह काफी मुश्किल समय है और मीडिया से मैं अनुरोध करती हूं कि इस मामले में मेरी निजता का सम्मान किया जाए। मेरा मकसद किसी को नुकसान पहुंचाना नहीं बल्कि अपनी रक्षा करना है. उन्होंने फेसबुक पर भी विस्तार से सारा ब्यौरा लिखा है.

प्रीति जिंटा ने फेसबुक पर जो लिखा है, उसे एक मजबूत बयान की तरह देखा जा रहा है. प्रीति ने लिखा है- “मैं बहुत ज्‍यादा धनी या पावरफुल तो नहीं हूं, लेकिन मैंने अब तक की जिंदगी में आत्‍म-सम्‍मान हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत जरूर की है. मैं इस बात से काफी दुखी हूं कि पहले जब सार्वजनिक जगहों पर मुझे अपमानित किया गया, तो किसी ने मेरा साथ नहीं दिया. इस बार मेरे सामने कोई दूसरा विकल्‍प नहीं बचा है. यही वजह है कि मुझे बोल्‍ड स्‍टेप उठाना पड़ रहा है.

कई बार ऐसी स्थिति आती है, जब हमें अपमान के दौर से गुजरना पड़ता है. पर हम यह सोचकर खुद को ही बेवकूफ बनाते हैं कि क्‍या हुआ, यह किसी ने देखा तो नहीं. वानखेड़े में क्‍या हुआ, इसे दूसरी मनगढ़ंत बातों की तरह ही नजरअंदाज किया जा रहा है. यह कोई नहीं जानना चाहता कि मेरे साथ क्‍या हुआ. मुझे यकीन है कि घटना के गवाह सच बोलेंगे. मुझे विश्‍वास है कि इस मामले में पुलिस ठीक तरीके से और तेजी से कार्रवाई करेगी. कोई महिला यह नहीं चाहती है कि इस तरह की बात सामने आए. मैंने फिल्‍म जगत में 15 साल से ज्‍यादा वक्‍त तब काम किया है. लेकिन मुझे इस तरह के अपमान के दौर से पहले कभी नहीं गुजरना पड़ा.

मैं मीडिया से विनम्रता से अनुरोध करती हूं कि वह मुझे सपोर्ट करे और इस बात पर फोकस करे कि वानखेड़े स्‍टेडियम में मेरे साथ क्‍या हुआ. मुझे किसी की सहानुभूति की जरूरत नहीं है.”

गौरतलब है कि प्रीति ज़िंटा की शिकायत के मुताबिक़ यह घटना 30 मई 2014 की है जब मुंबई के वांखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स-11 पंजाब के बीच मैच चल रहा था.

एक और पुलिस अधिकारी विजय माने ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि प्रीति ने शुक्रवार देर रात जो शिकायत दर्ज कराई है उसके अनुसार 30 मई को खेले जा रहे मैच के दौरान नेस वाडिया प्रीति के पास आए, सबके सामने उनसे गाली गलौज की और उनका हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया.

प्रीति ने पुलिस को जानकारी दी है कि वारदात की रात नेस वाडिया ने मेरे लिए बेहद ही अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. मेरे दोस्तों और परिवारवालों के सामने इस तरह से व्यवहार किया जिससे मेरा अपमान हुआ.’ उन्होंने आगे बताया कि नेस वाडिया ने उस रात को मुझे यह कहते हुए धमकाया कि वह मुझे गायब करा देगा क्योंकि मेरी कोई औकात नहीं है. मैं सिर्फ एक अभिनेत्री हूं और वह बहुत ही ताकतवार शख्स है. मैं अपनी जिंदगी में शांति चाहती हूं. पर वानखेड़े स्टेडियम में जो हुआ, उससे मुझे गहरा धक्का लगा. आज मैं अपनी जिंदगी के लिए डर गई हूं.

प्रीति ने यह जानकारी भी दी है कि उन्होंने इसके बारे में कई बार बीसीसीआई अधिकारियों को बताया. इस सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के अच्छे प्रदर्शन के कारण वह चुप रहीं. वह नहीं चाहती थीं कि पूरी घटना का असर टीम के प्रदर्शन पर पड़े. उन्होंने आरोप लगाया है कि नेस वाडिया ने उनके पीठ पीछे कई बार भला-बुरा कहा व उनके चरित्र पर भी सवाल उठाए. इसके अलावा सार्वजनिक जगहों पर हाथापाई तक की.

नेस वाडिया प्रीति ज़िंटा के साथ आईपीएल की टीम किंग्स-11 पंजाब के सह मालिक हैं. दोनों को एक समय काफ़ी क़रीबी मित्र के रूप में देखा जाता था. लेकिन इस विवाद के बाद दोनों के रिश्तों को समझा जा सकता है.

Tags: , , , ,