नक्सलियों से निपटेंगी महिला कमांडो

Saturday, August 31, 2013

A A

नक्सली

रायपुर: महिला नक्सलियों की बढ़ती संख्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों में महिला कमांडो को तैनात करने का निर्णय लिया है. आधिकारिक जानकारी के अनुसार आधुनिक हथियारों से लैस महिला कमांडो की तैनाती बारिश के मौसम के बाद नक्सल प्रभावित बस्तर में तैनात की जाएंगी.

उल्लेखनीय है कि हाल के दिनों में महिला नक्सलियों की गतिविधियों में बढ़ोत्तरी हुई है. गत 25 मई को बस्तर जिले की झीरम घाटी में कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हुए बड़े नक्सली हमले में शामिल ज्यादातर हमलावर कम उम्र की नक्सली युवतियां थीं. इस हमले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कई बड़े नेताओं जैसे विद्याचरण शुक्ल, नंदकुमार पटेल समेत 31 लोग मारे गए थे.

इस हमले के बाद हुई जांच में पता चला कि हमलावरों में शामिल महिला नक्सली आधुनिक हथियारों और संचार साधनों से लैस थीं. समझा जाता है कि इस रिपोर्ट के आधार पर केंद्र सरकार इन इलाकों में महिला कमांडो की तैनाती करने जा रही है.

पुलिस के अनुसार, बस्तर संभाग के सात जिलों में महिला नक्सलियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है.

हाल ही में बीजापुर में गिरफ्तार महिला नक्सली ने अपने बयान में कहा कि नई रणनीति के तहत बस्तर की आदिवासी युवतियों को संगठन में भर्ती करने का दायित्व प्रशिक्षण प्राप्त महिलाओं को सौंपा गया है, क्योंकि इन इलाकों में पुरुषों की संख्या कम होती जा रही है. नक्सली संगठन में शामिल महिलाओं को आधुनिक हथियार चलाने का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है.

दूसरी ओर, राज्य सरकार ने भी महिला नक्सलियों से निपटने के लिए बड़ी संख्या में आदिवासी महिला आरक्षकों की नियुक्ति की है जिन्हें जंगलवार प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है. अब इन्हें सहायक आरक्षक का दर्जा देकर महिला नक्सलियों से लड़ने के लिए तैयार किया गया है.

Tags: , , , ,