छत्तीसगढ़ में कोटरी का शिकार

Tuesday, March 29, 2016

A A

कोटरा-छोटा हिरण

जशपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के जशपुर में छोटे हिरण कोटरी को ग्रामीणों ने मार डाला है. इसकी सूचना ग्रीन नेचर वेलफेयर सोसाइटी द्वारा वन्य विभाग को देने के बाद भी उसका अमला समय पर नहीं पहुंचा. आरोप है कि यदि वन विभाग का अमला समय पर पहुंच जाता तो घायल कोटरी की जान बचाई जा सकती थी.

मिली जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह जशपुर के मनोरा रेंज के कोसा गांव में एक कोटरी पानी की तलाश में आ गया था. जिसको ग्रामीणों द्वारा घेरकर पत्थर से मारा जा रहा था. इसकी सूचना वहां से बस से गुजर रहें एक शख्स विनयकांत पाठक ने ग्रीन नेचर वेलफेयर सोसाइटी को दी. विनयकांत पाठक ने ग्रामीणों को समढाने की कोशिश भी की परन्तु वे नहीं माने. इसी दौरान कोटरी एक जाली में फंसकर तड़पने लगा.

ग्रीन नेचर वेलफेयर सोसाइटी के सदस्यों ने 15 किलोमीटर दूर से आकर रेजर तथा डिप्टी रेंजर को इसकी सूचना फोन पर दी. वन विभाग का अमला डेड़ घंटे तक नहीं पहुंचा. इस दौरान कोटरी की मौत हो गई.

उल्लेखनीय है कि मनोरा से कोसा की दूरी मात्र 4 किलोमीटर है उसके बावजूद भी वन विभाग का अमला देर से पहुंचा.

Tags: , , , , ,