सूखे छत्तीसगढ़ में IPL का विरोध

Tuesday, April 12, 2016

A A

शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम

रायपुर | समाचार डेस्क: सूखे से जूझ रहे छत्तीसगढ़ में आईपीएल मैच के लिये 80 लाख लीटर पानी बर्बाद किया जा रहा है. रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह स्टेडियम में होने वाले 20 और 22 मई के मैचों को रद्द करने की मांग की गई है. इसका विरोध आरटीआई कार्यकर्ता कुणाल शुक्ला ने किया है.
उन्होंने सोमवार को इसकी शिकायत कलेक्टर के जनदर्शन कार्यक्रम में भी की है. कुणाल शुक्ला ने कहा कि राजधानी रायपुर के कई स्चानों में पानी के लिये हाहाकार मचा हुआ है. ऐसी हालत में आईपीएल मौच के लिये स्टेडियम में रोजाना 1.60 लीटर पानी डाला जा रहा है.

एक अनुमान के अनुसार दोनो मैचों के लिए निर्धारित तारीखों तक करीब 78.40 लाख लीटर पानी मैदान में डाला जाएगा.

उन्होंने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर करने की भी बात कही है.

छत्तीसगढ़ के किसानों का कहना है कि एक ओर तो प्रदेश पीने और सिंचाई के पानी की कमी से जूझ रहा है और दूसरी ओर आईपीएल-9 में कुछ लोगों के मनोरंजन के लिए लाखों लीटर पानी बर्बाद किया जा रहा है.

ग्रामीणों का कहना है कि जितना पानी रायपुर में दो मैचों के लिए खपाया जा रहा है उतने में जल संकट से जूझ रहे बलरामपुर, सरगुजा और राजनांदगांव जिले के 50,000 लोगों की दैनिक पानी की आवाश्यकता की पूर्ति की जा सकती है.

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ केबिनेट ने राज्य के 93 तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित किया हुआ है. प्रदेश में 117 तहसीलों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है.

संबंधित खबरें-

छत्तीसगढ़ सूखा राहत की घोषणा

छत्तीसगढ़: 93 तहसीलें सूखाग्रस्त घोषित

छग: सूखे पर विपक्ष का बहिर्गमन

Tags: , , , ,