बिहार: मृतकों की संख्या 48 हुई

Thursday, April 23, 2015

A A

चक्रवात

पटना | समाचार डेस्क: बिहार में मंगलवार की रात आए चक्रवाती तूफान से मरने वालों की संख्या 48 तक पहुंच गई है. सबसे अधिक पूर्णिया जिले में 32 लोगों की मौत हुई है. प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्य तेजी से चलाए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को भागलपुर जिले तथा इसके आसपास के प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया. केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को तूफान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे.

आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार, मंगलवार की रात आए चक्रवाती तूफान और बारिश और ओलावृष्टि की चपेट में आने से अब तक 48 लोगों की मौत हो गई है. बुधवार को यह आंकड़ा 42 थी. इस आपदा में पूर्णिया जिले में 32, मधेपुरा में सात, मधुबनी में तीन, कटिहार और सीतामढ़ी में दो-दो तथा सुपौल और दरभंगा में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

इस बीच मुख्यमंत्री ने गुरुवार को भागलपुर और उसके आसपास के जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया तथा बाद में भागलपुर में अधिकारियों के साथ बैठक कर स्थिति की समीक्षा की तथा कई आवश्यक निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में सर्वेक्षण का कार्य जारी है. प्रभावित लोगों की सूची बनाई जा रही है.

उन्होंने कहा, “जिन लोगों के घर क्षतिग्रस्त हुए हैं, उन्हें भी घर बनाने के लिए सहायता दी जाएगी. फसलों के बर्बादी के लिए भी किसानों को मुआवजा दिया जाएगा.”

नीतीश ने बताया कि बुधवार की रात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने टेलीफोन द्वारा स्थिति की जानकारी ली थी तथा केन्द्र सरकार द्वारा हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया है. उन्होंने बताया कि सुबह केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से भी टेलीफोन पर बातचीत हुई है.

उधर, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि शुक्रवार को केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह तूफान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे. उनके साथ केन्द्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह और रविशंकर प्रसाद भी रहेंगे. उन्होंने बताया कि हवाई सर्वेक्षण के बाद वे प्रभावित किसानों से भी मिलेंगे.

अपादा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव ब्यास जी ने गुरुवार को कहा, “प्रभावित सभी क्षेत्रों में राहत कार्य चलाए जा रहे हैं. इस तूफान से व्यापक क्षति हुई है परंतु सर्वेक्षण के बाद ही नुकसान का सही आंकड़ा का पता चल सकेगा.”

उन्होंने आगे कहा, “प्रभावित परिवारों को एक क्विंटल खाद्यान्न, वस्त्र खरीदने के लिए 1,800 रुपये, बर्तन खरीदने के लिए 2,000 रुपये दिए जा रहे हैं. बेघर हुए लोगों को 2,000 रुपये अतिरिक्त नकद राशि का भी भुगतान किया जा रहा है.”

उल्लेखनीय है कि राज्य के मधेपुरा, पूर्णिया, सहरसा, सुपौल, कटिहार, सीतामढ़ी किशनगंज, दरभंगा और मधुबनी जिले में चक्रवाती तूफान से व्यापक क्षति हुई है. मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की सहायता राशि दी जा रही है.

Tags: , , , , , , ,