मुस्लिम आबादी की कद्र करे भारत-ओबामा

नई दिल्ली | डेस्क: बराक ओबामा ने कहा है कि भारत को मुस्लिम आबादी की कद्र करनी चाहिये. ओबामा ने कहा कि उन्होंने साल 2015 में बतौर राष्ट्रपति भारत की अपनी आखिरी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बंद कमरे में हुई बातचीत के दौरान धार्मिक सहिष्णुता की ज़रूरत और किसी भी पंथ को ना मानने के अधिकार पर बल दिया था.

अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट में बोल रहे थे.

उन्होंने भारत से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा कि देश की बड़ी मुस्लिम आबादी, जो खुद को देश से जुड़ा हुआ और भारतीय मानती है. यह कुछ ऐसा है जिसकी कद्र और ध्यान रखने की जरूरत है. इसे लगातार मज़बूत बनाना ज़रूरी है. ओबामा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘इच्छा’ थी कि भारतीय एकता के महत्व की पहचान हो.

ओबामा ने कहा कि नवम्बर 2008 में मुम्बई पर जब आतंकवादी हमला हुआ था तब भारत की तरह अमरीका के सिर पर भी आतंकवाद के ढांचे को तबाह करने का जुनून सवार था. उन्होंने कहा कि भारतीय सरकार की मदद के लिए अमेरिकी खुफिया कर्मियों को तैनात किया गया था.

बराक ओबामा ने मनमोहन सिंह को अच्छा दोस्त बताते हुये कहा कि उनके उठाये कदमों से आधुनिक भारतीय अर्थव्यवस्था के आधार की शुरुआत हुई. ओबामा ने मोदी को लेकर कहा कि मैं उन्हें पसंद करता हूं और मेरा मानना है कि उनके पास देश के लिए एक विजन है.

error: Content is protected !!