‘म्हारी दंगल किसी से कम हैं के’

मुंबई | मनोरंजन डेस्क: आमिर खान ने साबित कर दिया है कि उनकी छोरियां किसी से कम नहीं हैं. ‘दंगल’ को फिल्मफेयर का तीन अवार्ड मिला है, सर्वश्रेष्ठ अभिनेता, सर्वश्रेष्ठ फिल्म और सर्वश्रेष्ठ निर्देशन का. फिल्म ‘दंगल’ में पहलवान महावीर सिंह फोगाट बने आमिर खान कहते हैं, ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम है के’. ठीक उसी तरह से छोरियों पर बने फिल्म ‘दंगल’ ने साबित कर दिया है कि वे किसी दूसरी फिल्म से कम नहीं है. किसी फिल्म को एक साथ सर्वश्रेष्ठ फिल्म, निर्देशन और अभिनेता का पुरस्कार मिलना यही साबित करता है.

‘दंगल’ फिल्म के माध्यम से आमिर खान ने समाज को संदेश देने की कोशिश की है कि बेटियां भी आपके सपनों को पूरा कर सकती है बशर्ते आप उन्हें ऐसा करने दें. बेटियां भी आसमान में उड़ सकती हैं बशर्ते उनके पंख न कुतर दिये जाये. इसी के साथ ‘दंगल’ ने फिल्मी दर्शकों को दंगल के दांव-पेचों से भी परिचित कराया है.

Dangal Motivational Dialogues- ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम है के’

आलिया भट्ट को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का अवार्ड फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के लिये दिया गया है. ‘उड़ता पंजाब’ में नशे की गिरफ्त में आये युवाओं की समस्या को दिखाया गया है. फिल्म की कहानी में आलिया भट्ट ने अपने सशक्त अभिनय से जान डाल दी है.

अभिनेत्री सोनम कपूर ने ‘नीरजा’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का क्रिटिक्स अवॉर्ड जीता, जबकि शाहिद कपूर ने ‘उड़ता पंजाब’ और मनोज बाजपेयी ने ‘अलीगढ़’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के क्रिटिक्स अवॉर्ड जीते.

error: Content is protected !!