IGP पर लगे आरोपों की रिपोर्ट नहीं आई

बिलासपुर | समाचार डेस्क: बिलासपुर के तत्कालीन आईजीपी पवनदेव पर लगे आरोपों की जांच रिपोर्ट तीन माह बाद भी नहीं आई है. बिलासपुर के तत्कालीन आईजीपी पवनदेव पर एक महिला आरक्षक ने गंभीर आरोप लगाया था. जिस पर राज्य सरकार ने वरिष्ठ आईएएस रेणु पिल्ले की अध्यक्षता में एक जांच समिति बनाई थी. इस जांच समिति को तीन माह अर्थात् 4 अक्टूबर 2016 तक अपनी रिपोर्ट दे देनी थी. इस बीच आईजीपी पवनदेव को बिलासपुर से स्थानांतरित कर दिया गया है.

राज्य सरकार ने तीन माह बीत जाने पर भी इस जांच समिति का कार्यकाल बढ़ाने के लिये कोई अधिसूचना जारी नहीं की है. ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि आईजीपी पनवदेव पर लगे आरोपों का पटाक्षेप होगा या नहीं? उक्त महिला आरक्षक को कब न्याय मिलेगा?


जांच समिति ने चार बार महिला आरक्षक को राजधानी तलब किया और बयान लिया है. आईजीपी पवनदेव को भी चार बार बुलाया जा चुका है. फिलहाल आईजीपी पवनदेव का भिलाई के सेक्टर-9 अस्पताल में इलाज चल रहा है. 22 सितंबर को उनकी गाड़ी एक ट्रक से टकरा गई थी.

उल्लेखनीय है कि एक महिला सिपाही ने आरोप लगाया था कि बिलासपुर रेंज के आईजीपी पवनदेव उसे फोन करके घर आने के लिये कहते हैं.

जबकि आईजीपी पवनदेव ने इन आरोपों का खंडन करते हुये कहा था कि उन पर इसलिये आरोप लगाये जा रहें हैं कि उस महिला सिपाही के करीबी पुलिस के सब इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!