छत्तीसगढ़: 1 नवंबर को जेल भरो आंदोलन

रायपुर | संवाददाता: छत्तसीगढ़ में कांग्रेस 1 नवंबर के दिन राज्यभर में जेल भरो आंदोलन करेगी. मंगलवार को रायपुर में हुई कांग्रेस की बैठक में तय किया गया है कि इस दिन राज्यभर में 1 लाख कार्यकर्ता रमन सरकार से वादा निभाओं की मांग पर जेल भरो आंदोलन में शिरकत करेंगे. गौरतलब है कि 1 नवंबर से छत्तीसगढ़ का राज्योत्सव शुरु हो रहा है. इस दिन सरकारी तौर पर कई कार्यक्रम आयोजित किये जा रहें हैं.

कांग्रेस का जेल भरो आंदोलन जिला एवं ब्लॉक स्तरों पर होगा. इसे सफल बनाने के लिये जिलाध्यक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है.


उल्लेखनीय है कि भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में किसानों से वादा किया था कि उन्हें धान पर प्रति क्विंटल 300 रुपये बोनस तथा 2100 रुपये का समर्थन मूल्य दिया जायेगा. जिसे आज तक पूरा नहीं किया गया है. कांग्रेस इसी के आधार पर रमन सरकार से वादा निभाओं की मांग कर रही है.

इसके अलावा किसानों से हस्ताक्षर लेकर कोर्ट में एक याचिका भी दायर की जायेगी.

मंगलवार की बैठक में विधायक डॉ. रेणु जोगी शामिल हुई लेकिन सियाराम कौशिक ने बैठक में भाग नहीं लिया.

बैठक में मुख्यमंत्री तथा बस्तर के आईजीपी कल्लूरी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया गया. निंदा प्रस्ताव में कहा गया है कि विधायक देवती कर्मा के खिलाफ अपहरण का जो झूठा मामला दर्ज किया गया है, उसके विरोध में निंदा की जाती है.

बैठक में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे, मोहम्मद अकबर तथा पदाधिकारियों ने भाग लिया.

जेल भरो आंदोलन के मुद्दे-
*झीरम कांड में सीबीआई जांच के बाद भी शुरू नहीं हुई जांच.
*काला धन वापसी के बाद भी मोदी ने नहीं निभाया वादा.
*धान का सर्मथन मूल्य एवं बोनस किसानों को नहीं मिला.
*चिटफंड कंपनियों ने डकारे करोड़ों रुपये.
*प्रदेश में अफसरशाही हावी.
*बस्तर में फर्जी नक्सली मुठभेड़.
*मुलमुला में दलित की पुलिस हिरासत में मौत.
*महिलाओं के साथ अत्याचार एवं अनाचार.
*राजधानी में गोलीकांड.
*पेट्रोल-डीजल महंगा, दाल सहित खाद्य सामग्री महंगी.
*धान खरीदी में एक-एक दाना धान की नहीं हो रही खरीदी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!