बोआज की होगी छुट्टी ?

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के प्रधान मुख्य वन संरक्षक अरविंद बोआज को क्या हटाया जा सकता है? वन विभाग के अफसरों के दफ्तरों में जो खुसफुसाहट सुनाई पड़ रही है, उसकी मानें तो बोआज को इस पद से हटा कर राज्य वन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान की कमान दी जा सकती है.

असल में शुक्रवार को हुई डीपीसी में आईएफएस प्रदीप पंत और बीके सिन्हा के नए प्रधान मुख्य वन संरक्षक बनने पर मुहर लग चुकी है. डीपीसी के लिए हुई बैठक में मुख्य सचिव विवेक ढांड, वन विभाग के प्रमुख सचिव आरपी मंडल, पीसीसीएफ अरविंद बोआज और हिमाचल प्रदेश के पीसीसीएफ एसपी वासुदेव शामिल हुए.

छत्तीसगढ़ में वर्तमान में वन विभाग में चार पीसीसीएफ हैं. दो नए पद बनाये जाने के बाद पीसीसीएफ की संख्या छह हो गई है. डॉ. बोआज हेड ऑफ फॉरेस्ट फोर्स हैं. उनके अलावा डॉ. बीएन द्विवेदी, एनसी पंत व बीएल शरण पीसीसीएफ हैं.

दो नये पीसीसीएफ के बाद माना जा रहा है कि अरविंद बोआज को राज्य वन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान भेजा जा सकता है. उनके खिलाफ श्रीलंका में हुई एक शिकायत की फाइल भी फिर से खुल सकती है. ऐसे में उनकी जगह किस अधिकारी की पदस्थापना होगी, सबकी नज़र इस पर लगी हुई है.

error: Content is protected !!