पुलिस हिरासत में मौत

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में पुलिस कस्टडी में चूहामार दवा खाने से मोबाइल चोर के आरोपी की मौत हो गई है. पुलिस का कहना है कि बिलासपुर शहर के गोड़पारा निवासी 44 वर्षीय सुरेश तिवारी को सोमवार 4 शाम बजे सिटी कोतवाली लाया गया था.

रात 8 बजे उसने उल्टियां करनी शुरु कर दी. पुलिस ने उसे सिम्स अस्पताल में भर्ती कराया. पुलिस ने उसका तहसीलदार के सामने बयान भी कराया. जिसमें सुरेश तिवारी ने कथित रुप से मोबाइल चोरी में पकड़े जाने पर लोकलाज के भय से जहर खाने की बात कही.


मंगलवार तड़के सुरेश की हालत खराब होने लगी तो उसे अपोलो रेफर कर दिया गया. जहां पर उसकी मौत हो गई. सिटी कोतवाली पुलिस ने आरोपी पर धारा 309 के तहत आत्महत्या करने का केस दर्ज कर लिया है.

बुधवार को दंडाधिकारी के सामने लाश का पंचनामा होगा, उसके बाद उसका पोस्टमार्टम किया जायेगा. पोस्टमार्टम सिम्स के तीन सदस्यीय डॉक्टरों की टीम करेगी. उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि हिरासत में होने वाली मौतों की दंडाधिकारी जांच होनी चाहिये.

पुलिस हिरासत में आत्महत्या की खबर आने से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है. बयान में बताया गया है कि आरोपी ने 12 बजे मोबाइल चोरी की थी तथा दोपहर के 1 बजे शनिचरी बाजार से चूहामार दवा खरीदकर खाई थी. आरोपी को शाम 4 बजे सिटी कोतवाली लाया गया था.

आरोपी को जहर खाने के 7 घंटे बाद रात 8 बजे हिरासत में उल्टियां शुरु हुई थी. क्या चूहामार दवा खाने का असर 7 घंटे बाद शुरु हुआ था. परिजनों ने आशंका जताई है कि तिवारी ने संभवतः पुलिस कस्टडी में ही कथित चूहामार दवाई खाई और बाद में फंसने की आशंका से पुलिस ने अपने पक्ष में कथित बयान दिलवाया. हालांकि पुलिस ऐसे आरोपों से इंकार कर रही है.

One thought on “पुलिस हिरासत में मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!