“अमरीका में नवाज क्या कर रहे थे?”

Tuesday, September 29, 2015

A A

मोदी-नवाज़, प्रधानमंत्री

इस्लामाबाद | समाचार डेस्क: पाक अखबार द नेशन ने सवाल किया है अमरीका में उनके प्रधानमंत्री नवाज शरीफ क्या रहे थे. पाक अखबार ने कहा मोदी की तुलना में नवाज शरीफ के पास न व्यक्तित्व और न ही करिश्मा है. पाकिस्तान के एक अखबार ने कहा है कि अमरीका में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत एक स्टार की तरह हुआ है. अखबार ने लिखा है कि मोदी एक बहुत चालाक नेता हैं. उनमें अपने विरोधियों को परास्त करने की क्षमता है. वह ‘भारत के राजनैतिक और सैन्य दबदबे’ के लिए काम कर रहे हैं.

द नेशन अखबार ने अपने संपादकीय में कहा है कि सभी को राजनेताओं के बीच का निर्णायक मुकाबला अच्छा लगता है. लेकिन, जहां तक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और मोदी का मामला है तो इस मामले में ‘हमारी पीठ दीवार से सटी’ हुई है.

संपादकीय में कहा गया है, “कार्यक्रमों, पार्टियों में मोदी का स्वागत स्टार की तरह हुआ. शरीफ के पास प्रभाव छोड़ने के लिए केवल संयुक्त राष्ट्र का मंच था. पाकिस्तान के खिलाफ दिक्कतों का ढेर लगा हुआ है. ”

अखबार ने लिखा है कि मोदी ने सिलिकान वैली में दो दिन तक अमरीका के तकनीकी जगत से संवाद किया. फेसबुक टाउनहाल में सवालों के जवाब दिए. एक ऐसे रात्रि भोज में शामिल हुए जिसका संचालन माइक्रोसाफ्ट, गूगल और एडोब के भारतीय मूल के सीईओ कर रहे थे.

संपादकीय में पूछा गया है, “नवाज शरीफ क्या कर रहे थे?”

अखबार ने लिखा है, “मोदी का जोर अमरीका में भारतवंशियों से संपर्क पर था. जबकि नवाज हमारे राष्ट्रीय स्वाभिमान में जोश भरने के लिए अमरीकी राष्ट्रपति से उर्दू में बात करने के बारे में सोच रहे थे. यह एक मजाक से कम नहीं लगता. लगातार दिख रहा है कि पाकिस्तान के पास पश्चिम को देने के लिए कुछ नहीं है. न व्यक्तित्व और न ही करिश्मा.”

अखबार ने कहा है कि पाकिस्तान को मोदी की चाल-ढाल और भाव भंगिमा को देखना चाहिए.

अखबार ने लिखा है, “मोदी चतुर नेता हैं. उनमें अपने विरोधियों को मात देने की क्षमता है और समय की लाजवाब समझ है. दूसरी तरफ हम ‘सफलता’ के उन्हीं घिसे पिटे, मर चुके फार्मूलों से चिपके हुए हैं.”

अखबार ने लिखा है कि मोदी की कोशिश भारत के राजनैतिक और सैन्य दबदबे को बनाने की है. अमरीका उनकी मदद कर रहा है. पाकिस्तान के पास महज सैन्य शक्ति का ही सहारा है. वह भी खत्म हो रहा है. अखबार ने पूछा है, “मोदी के पास प्लान है. हमारे पास है क्या?”

Tags: , , ,