अमित शाह को सर्वोच्च राहत

Monday, August 1, 2016

A A

अमित शाह-भाजपा अध्यक्ष

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: अमित शाह को बरी किये जाने को चुनौती वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है. अमित शाह को सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ केस में बरी किये जाने को पूर्व नौकरशाह हर्ष मंदर द्वारा दी गई चुनौती को न्यायालय ने इसलिये खारिज कर दिया कि न तो वह पीड़ित व्यक्ति हैं और न ही उनका इस केस से कोई वास्ता है. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह को सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले में सोमवार को उस वक्त राहत मिली, जब सर्वोच्च न्यायालय ने सामाजिक कार्यकर्ता तथा पूर्व नौकरशाह हर्ष मंदर की इससे संबंधित याचिका खारिज कर दी. हर्ष मंदर ने इस मामले में शाह को आरोपों से बरी किए जाने को चुनौती दी थी.

न्यायमूर्ति एस.ए. बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने हर्ष मंदर की याचिका खारिज कर दी. उन्होंने बम्बई उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी थी. न्यायालय ने इस आधार पर शाह को आरोपों से बरी किए जाने के खिलाफ दायर हर्ष मंदर की याचिका खारिज कर दी थी कि इस मामले में आखिर उनका औचित्य क्या है?

हर्ष मंदर की याचिका खारिज करते हुए शीर्ष अदालत की पीठ ने कहा, “जब एक वास्तव में पीड़ित व्यक्ति अदालत की शरण में आता है तो यह एक अलग मामला होता है, लेकिन जब कोई ऐसा व्यक्ति, जिसका मामले से दूर-दूर तक संबंध नहीं होता, अदालत का दरवाजा खटखटाता है तो यह अलग होता है.”

Tags: , , , , ,