सलमान की सजा पर सुर्खिया क्यों?

Wednesday, May 6, 2015

A A

सलमान खान-अभिनेता

रायपुर | जेके कर: सलमान खान की सजा घोषित होने से पहले से ही वे सुर्खियों में हैं. पिछले दो दिनों से कयास कगाये जा रहें हैं कि सलमान खान को सजा होगी या नहीं? सलमान की सजा होने पर कितने करोड़ रुपयों का घाटा होगा इत्यादि, इत्यादि. जाहिर है कि सेलीब्रेटी होने के कारण सलमान को सजा न हो इसके लिये दुआयें मांगी जा रही थी. ठीक वैसे ही जैसे आसाराम बापू के जेल यात्रा के समय से उनके भक्त उन्हें बेगुनाह बता रहें हैं. इन सब के बीच में भारतीय न्याय व्यवस्था पर लोगों का विश्वास और गहराई से मजबूत हुआ है कि यहां सबूतों के आधार पर फैसले लिये जाते हैं. जिसके तहत सलमान जैसे ‘बॉलीवुडी दबंग’ को भी वास्तविक जीवन में सलाखों के पीछे जाना पड़ सकता है.

हालांकि, इस बात की पूरी उम्मीद अभी जवां है कि सलमान भी संजू बाबा के समान कानूनी लड़ाई करके कई सालों तक बाहर रह सकते हैं. इसके बाद हाई कोर्ट तथा सुप्रीम कोर्ट जाने का रास्ता खुला हुआ है. जिसके लिये बड़े वकीलों की फीस सलमान के लिये हाथों का मैल है.

एक बात गौर करने वाली है कि सलमान के खिलाफ गवाह अपने बयान पर अडिग रहें जिससे उन्हें सजा संभव हो पाई. वैसे आम धारणा है कि 12 साल बाद सलमान को केवल 5 साल की सजा हुई.

हमने शुरु में ही सवाल उठाया है कि सलमान खान को सजा पर सुर्खियां क्यों? इसकी भी विवेचना करना जरूरी है. सलमान की करीब 10-12 फिल्मों पर काम चल रहा है तथा जिसमें 500 से 600 करोड़ रुपये लगे हुये हैं. यदि सलमान लगातार जेल में रहें तो यह पैसे डूब जायेंगे यह तय है. सलमान की दो फिल्में ‘प्रेम रतन धन पायो’ तथा ‘बजरंगी भाई जान’ रिलीज ही होने वाली है. इन फिल्मों से करोड़ो कमाये जाने की उम्मीद लगी हुई है. इसी कारण से सलमान को सजा होने से कितने करोड़ डूब जायेंगे उस पर अलग से सुर्खिया अस्तित्व में है.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ ने देशी तथा विदेशी बाजार में 600 करोड़ रुपयों की कमाई करके रिकॉर्ड तोड़ा है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सलमान जैसे तुरुप के इक्के के 10-12 फिल्में क्या कर सकती है. मामला एक तरह से कमाई का है जिसके लिये धन्ना सेठ पूरी कोशिश करेंगे कि सलमान को सजा न पाये. इसके लिये मीडिया को उपयोग में लाया जा सकता है. खासकर जब भारतीय मीडिया लोकसभा चुनाव के पहले से ही प्रधानमंत्री के नाम की घोषणा करने की कुव्वत रखता हो जब.

सलमान के लाखों-करोड़ों फैन जरूर हैं परन्तु वे सुर्खिया तय नहीं करते हैं. सुर्खियां तय करते हैं मीडिया घराने के भद्र पुरुष जिनके किसी भाई का ही पैसा सलमान खान पर लगा हुआ है. मामला एकबारगी रेस के घोड़े पर पैसे लगाने जैसे है जहां पैसा लगाने के बाद उसकी जीत तय करने के लिये ऐड़ी-चोटी का जोर लगा दिया जाता है.

कुल मिलाकर सलमान पर पैसा लगा है इसलिये उसे बचाने के लिये माहौल बनाया जा रहा है. क्या किसी उद्योगपति को हत्या करने के बाद इस बिना पर छोड़ा जा सकता है कि उसका बहुत बड़ा आर्थिक साम्राज्य है जिससे हजारों लोगों को रोजगार मिलता है? सलमान खान ने कोर्ट में कहा कि वह 400 बच्चों का इलाज़ करवा चुके हैं. इसका क्या अर्थ होता है. क्या सीएसआर मद से करोड़ो रुपये खर्च करने वाले टाटा-अंबानी के गुनाहों को माफ किया जा सकता है. जहां तक सलमान के फैन्स का सवाल है उन्होंने एक अभिनेता से प्यार किया है. क्या एक अपराधी के लिये भी उनकी वही भावनाये उचित हैं? अगर सलमान की कार के नीचे किसी फैन के परिवार को कोई मारा जाता तो उसके बाद भी क्या वह सलमान के गुण गाता रहता?

Tags: , , ,