रेलवे विकास में मदद करेगा: सदानंद गौड़ा

Monday, July 7, 2014

A A

डीवी सदानंद गौड़ा-रेलमंत्री

नई दिल्ली | एजेंसी: रेल मंत्री सदानंद गौड़ा का कहना है कि रेल बजट ऐसा होगा जिससे देश का विकास हो सके. मंत्री ने कहा, “मैं 12 बजे दोपहर को बजट पढ़ना शुरू करूंगा और डेढ़ बजे तक समाप्त करूंगा. उसके बाद आप मूल्यांकन कीजिएगा कि बजट विकासपरक है या नहीं.”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार का प्रथम रेल बजट एक विकासपरक बजट होगा और इसमें धन जुटाने की वैकल्पिक रणनीतियों का खुलासा होगा. यात्री किराए से होने वाली आय की सुस्त वृद्धि के बीच उम्मीद है कि रेल मंत्री डी.वी. सदानंद गौड़ा आय बढ़ाने के लिए कदम उठाने का प्रस्ताव रखेंगे.

इससे पहले अंतरिम रेल बजट पेश करते हुए तत्कालीन रेल मंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने 1.65 लाख करोड़ रुपये की आय का लक्ष्य रखा था. इसमें 1.06 लाख करोड़ माल ढुलाई से और 45,255 करोड़ रुपये यात्री किराए और शेष अन्य मदों से कमाने का लक्ष्य था.

विशेषज्ञों के मुताबिक बजट में किराया वृद्धि को जारी रखकर वित्तीय स्थिरता लाई जाएगी और सार्वजनिक-निजी साझेदारी मॉडल के जरिए आधोसंरचना के आधुनिकीकरण के लिए राशि जुटाई जाएगी.

देश में केपीएमजी के अधोसंरचना और प्रशासन साझेदार, जयजीत भट्टाचार्य ने कहा, “रेलवे को अपनी संपत्तियों से धन हासिल करने की जरूरत है और पीपीपी मॉडल के जरिए भी पैसे जुटाने की जरूरत है.”

नई सरकार ने पहले ही यात्री किराया 14.2 फीसदी और माल ढुलाई शुल्क 6.5 फीसदी बढ़ा दिया है, लेकिन इसे लंबी अवधि में मुनाफा देने वाली कई परियोजनाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय ऋणदाताओं से और अधिक राशि जुटाने की जरूरत है.

माना जा रहा है कि सेवा में सुधार के लिए मंत्री कुछ साहसिक कदम उठाएंगे.

महानगरों को तेज रफ्तार रेलगाड़ियों से जोड़ने की ‘हीरक चतुर्भुज’ योजना के बारे में भी बजट में कुछ खुलासे की उम्मीद की जा रही है, जिसके बारे में मोदी पहले कह चुके हैं.

परामर्श कंपनी डिलॉयटी इंडिया के वरिष्ठ निदेशक विश्वास उदगिरकर ने कहा, “तेज रफ्तार रेल परियोजनाओं और स्टेशन अधोसंरचना सुधार जैसी बड़ी परियोजनाओं का खुलासा हो सकता है.”

उल्लेखनीय है कि रेल बजट पेश होने से एक दिन पूर्व रेल से सबंधित कई कंपनियों के शेयरों में तेजी दर्ज की गई.

रेल बजट और शेयर बाजार

बंबई स्टॉक एक्सचेंज में वैगन निर्माता कंपनी टेक्समाको रेल एंड इंजीनियरिंग के शेयर 13.03 फीसदी तेजी के साथ 145.70 रुपये पर बंद हुए.

कालिंदी रेल निर्माण के शेयर बीएसई में 4.96 फीसदी तेजी के साथ 135.35 रुपये की ऊपरी सर्किट सीमा पर जा लगे.

एक अन्य वैगन निर्माता कंपनी टीटागढ़ वैगंस के शेयर बीएसई में 4.99 फीसदी तेजी के साथ 330.55 रुपये की ऊपरी सर्किट सीमा पर जा लगे.

हिंद रेक्टीफायर्स के शेयर 4.92 फीसदी तेजी के साथ 59.75 रुपये की ऊपरी सर्किट सीमा पर जा लगे.

कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के शेयर 6.20 फीसदी तेजी के साथ 1348.05 रुपये पर बंद हुए.

ट्रांसफॉर्मर्स एंड रेक्टीफायर्स, इंडिया के शेयर 0.37 फीसदी तेजी के साथ 219.75 रुपये पर बंद हुए.

स्टोन इंडिया के शेयर 4.24 फीसदी तेजी के साथ 47.90 रुपये पर बंद हुए.

Tags: , , , , ,