दरभा में पत्रकारों के कैमरे जप्त

Thursday, May 30, 2013

A A

नक्सल हमले की एनआईए जांच

जगदलपुर | संवाददाता: दरभा में नक्सल हमले की जांच के लिये पहुंची एनआईए की टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे पत्रकारों और फोटोग्राफरों के कैमरे पुलिस ने जप्त कर लिये. जिले के एसपी अभिषेक शांडिल्य ने पत्रकारों को जेल में बंद करने की भी धमकी दी. इधर एनआईए की टीम सबूतों के नष्ट हो जाने की आशंका से परेशान है.

दरभा घाटी में नक्सल हमले के बाद मीडिया और दूसरे लोगों के आने-जाने का रेला लगे रहने से सबूत नष्ट होने की आशंका को लेकर केंद्र सरकार फिक्रमंद है. केंद्र की ओर से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से फोन पर बात कर इस बात की चिंता जताई गई है. बताया गया कि कांग्रेस नेताओं के काफिले पर गोलीबारी से पहले नक्सलियों ने विस्फोट भी किया था. इससे सड़क पर एक बड़ा गड्ढ़ा हो गया था. लेकिन मार्ग से आने-जाने में वाहनों को दिक्कत बताकर गड्ढ़े को पाट दिया गया. एनआईए ने भी इस पर नाराजगी जताई.

दरभा घाटी में कांग्रेस नेतओं के काफिले पर नक्सलियों द्वारा किए गए हमले में 29 लोग मारे गए हैं. केंद्र सरकार ने इसकी जांच का जिम्मा राष्ट्रीय अन्वेषण एजेंसी को सौंपा है. एनआईए की टीम जांच करने के लिए वहां पहुंच गई है. गोलीबारी और विस्फोट में कई वाहनों के परखच्चे उड़ गए थे. इसी तरह मानव अंग भी इधर-उधर बिखरे पड़े थे. लेकिन मीडिया और दूसरे लोगों के आने-जाने से हमले के सबूत धीरे-धीरे नष्ट हो रहे हैं. केंद्र सरकार ने इस पर चिंता जताते हुए कहा है कि सबूत नष्ट होने से जांच पर असर पड़ेगा. केंद्र सरकार की ओर से मुख्यमंत्री से भी इस बारे में चिंता जताई गई है.

बताया गया कि नक्सलियों ने वाहनों के काफिले को उड़ाने के लिए बारुदी सुरंग विस्फोट किया था इससे एक गाड़ी क्षतिग्रस्त भी हुई थी. लेकिन सड़क पर बड़ा गड्ढ़ा हो जाने से वाहनों के आने में दिक्कत हो रही थी. लोगों ने विस्फोट से हुए गड्ढ़े को पाट दिया. एनआईए की टीम जब वहां पहुंची तब वहां गड्ढ़ा पट चुका था. टीम ने इस पर नाराजगी जाहिर की.

इधर गुरुवार को एनआईए की टीम जांच के लिए सुकमा पहुंची. टीम एसपी दफ्तर पहुंचकर घटना से जुड़े दस्तावेज हासिल कर रही थी. वहां पर मीडिया के लोग भी पहुंच गए और फोटोग्राफ्स लेने लगे. बताया गया कि मीडिया के लोग जांच दल की कार्रवाई को दूर से ही कवर कर रहे थे. इस दौरान वहां एसपी अभिषेक शांडिल्य पहुंचे और कैमरे जब्त कर लिए. उन्होंने पत्रकारों को जेल में बंद करने की भी धमकी दी. घटना के बाद पत्रकारों में काफी आक्रोश है. श्रमजीवी पत्रकार संघ ने घटना की जानकारी मुख्य सचिव कार्यालय भेजी है. साथ ही डीजीपी के नाम ज्ञापन भी सौंपा है.

Tags: , , , ,