और हमले के लिए तैयार रहे फ्रांस: अल कायदा

Sunday, January 11, 2015

A A

आतंकवादी

पेरिस | एजेंसी: आतंकवादी संगठन अलकायदा की यमन स्थित शाखा ने पेरिस में और आतंकी हमलों की चेतावनी दी है. आतंकवादी संगठन अलकायदा की यमन स्थित शाखा ने पेरिस के साप्ताहिक व्यंग्य पत्रिका ‘चार्ली हेब्दो’ के कार्यालय तथा जेविश सुपर मार्केट पर हमले की प्रशंसा करते हुए धमकी दी है कि अगर वह मुसलमानों के खिलाफ छेड़े गए युद्ध को बंद नहीं करता, तो उसपर और हमले होंगे. शनिवार को जारी किए गए एक वीडियो में ये बातें सामने आई हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, एक्यूएपी द्वारा ऑनलाइन पोस्ट किए गए पांच मिनट के इस वीडियो में एक्यूएपी के शरिया अधिकारी हरिथ अल-नधारी ने सीधे तौर पर यह तो नहीं कहा कि इस हमले में उसके समूह का हाथ है, लेकिन दोनों भाइयों सईद तथा शरीफ की प्रशंसा की, जिन्हें बंधक संकट के बाद सुरक्षाकर्मियों द्वारा मार गिराया गया था.

उसने फ्रांस के लोगों को मुसलमानों के खिलाफ लड़ाई बंद करने, या दंड के रूप में और हमले झेलने की चेतावनी दी है.

साल 2009 में यमन में अस्तित्व में आए एक्यूएपी को यहां अंसार अल-शरिया के नाम से भी जाना जाता है, जो कुछ पश्चिमी देशों पर हमले की जिम्मेदारी ले चुका है.

एक्यूएपी ने साल 2009 में एक अमेरिकी विमान को उड़ाने के प्रयास का दावा किया था. इसके लिए उसने नाइजीरिया के एक हमलावर उमर फारूक अब्दुलमुतल्लब को भेजा था, जिसे यमन में आतंकवादी प्रशिक्षण मिला था.

साल 2009 में ही एक्यूएपी नेता अनवर अल-अवलाकी ने निदाल मलिक हसन को भर्ती किया था, जिसे बाद में टेक्सास के फोर्ट हुड में 2009 में मौत की सजा सुनाई गई थी. उसने गोलीबारी कर 13 अमेरिकी सैनिकों की हत्या कर दी थी.

पेरिस में चार्ली हेब्दो पत्रिका के कार्यालय पर हमला कर 12 लोगों को मौत के घाट उतारने और उसके बाद दोहरे बंधक संकट के कारण फ्रांस को सुरक्षा अभियान चलाना पड़ा है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, चार्ली हेब्दो हमले में संदिग्ध क्वाची भाइयों में से एक शरीफ क्वाची के बारे में स्थानीय बीएफएमटीवी ने शुक्रवार सुबह कहा था कि उसे यमन के अलकायदा ने भेजा था.

शरीफ ने यह बात तब बताई, जब पूर्वोत्तर पेरिस के डमार्टिन-एन-गोएले में एक प्रिटिंग कंपनी में बंधक बनाए जाने की घटना को अंजाम देने के दौरान बीएफएमटीवी ने उससे संपर्क किया था.

दूसरा हमलावर तथा शरीफ के भाई सईद के बारे में दावा किया गया है कि उसे यमन के अलकायदा द्वारा प्रशिक्षित किया गया तथा वित्तीय मदद दी गई.

यदि इस बात की पुष्टि हो जाती है कि पश्चिम में पहले कम से कम दो प्रयासों के बाद एक्यूएपी ने एक अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया है, तो यह समूह अलकायदा का सबसे खतरनाक तथा सक्रिय शाखा हो सकती है.

एक ऑनलाइन पत्रिका शुरू करने सहित एक्यूएपी पश्चिम में समर्थकों को आकर्षित करने का प्रयास कर चुका है.

पेरिस में शुक्रवार को चार्ली हेब्दो के संदिग्ध हमलावरों -सईद तथा शरीफ – को एक अभियान में मार गिराया गया.

Tags: , , , ,