भारतीय बाजार में मांग है, आराम है: मोदी

Tuesday, September 2, 2014

A A

नरेन्द्र मोदी-प्रधानमंत्री

टोक्यो | एजेंसी: प्रधानमंत्री मोदी ने जापान के कारोबारियों को भरोसा दिलाया कि भारत में उन्हें अनुकूल माहौल मिलेगा. प्रधानमंत्री मोदी ने जापानी कारोबारियों से एक सेमिनार को संबोधित करते हुए कहा भारत एकमात्र जगह है, जहां जापानियों को लोकतंत्र, जनसंख्या और मांग जैसी तीन प्रमुख चीज आराम से मिलेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जापानी कारोबारियों से कहा कि मैं आपको यह विश्वास दिलाने के लिए आया हूं कि भारत में आपका स्वागत किया जाएगा और आपको लालफीताशाही का सामना नहीं करना पड़ेगा.

मोदी ने कहा, “मैं विशेष तौर पर लघु और मध्यम उद्यमों को प्रोत्साहित और आमंत्रित करता हूं.”

उन्होंने कहा कि भारत में अभी ऐसी सरकार है, जो विकास के लिए काम कर रही है और विनिर्माण क्षेत्र को मजबूत करना चाहती है. मोदी ने कहा कि वह एक ऐसा भारत बनाना चाहते हैं, जैसा कि वह बचपन में तब महसूस करते थे, जब किसी भी उत्पाद पर ‘मेड इन जापान’ लिखा होता था और इसके कारण वह उसकी विश्वसनीयता पर तुरंत भरोसा कर लेते थे.

मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की ओर से शुरू की गई ‘पूरब की ओर देखो’ नीति का जिक्र किया और कहा कि यह भारत-जापान संबंध को मजबूत करने के लिए शुरू किया गया था और यह अब मजबूत स्थिति में आ चुका है.

मोदी ने कहा, “जैसे भारत ‘लुक ईस्ट नीति’ का अनुसरण कर रहा है, वैसे ही संभवत: जापान ‘लुक एट इंडिया’ नीति का अनुसरण कर रहा है.”

उन्होंने कहा कि भारत जापान के जैसी कार्य संस्कृति का विकास करेगा, ताकि अधिकाधिक जापानी भारत में निवेश करें.

सम्मेलन के आयोजक ने कहा कि करीब चार हजार लोगों ने मोदी को सुनने की इच्छा जताई थी, लेकिन सिर्फ दो हजार को ही जगह दी जा सकी.

गौरतलब है कि मोदी पांच दिवसीय जापान यात्रा के तहत इस समय टोक्यो में हैं.

Tags: , , , , , , , ,