मध्य प्रदेश: भाजपा की बढ़त बरकरार

Sunday, December 8, 2013

A A

शिवराज सिंह चौहान

भोपाल | एजेंसी: मध्य प्रदेश विधानसभा निर्वाचन की मतगणना में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर बढ़त बनाए हुए है. रुझानों के अनुसार, भाजपा बहुमत के आंकड़े से आगे चल रही है. भाजपा 148 सीटों पर बढ़त लिए हुए हैं, वहीं कांग्रेस 65 सीटों पर आगे है. राज्य के 230 विधानसभा क्षेत्रों के लिए 51 जिलों में सुबह के आठ बजे मतगणना का काम शुरू हो गया. शुरुआत डाक मतपत्रों की गणना से हुई है. डाक मतपत्रों में भाजपा उम्मीदवारों को बढ़त मिली और अब ईवीएम की गिनती में भी भाजपा की बढ़त बनी हुई है. ताजा रुझान के अनुसार, भाजपा 148, कांग्रेस 65 और 5 स्थानों पर बहुजन समाज पार्टी व एक-एक स्थान पर समाजवादी पार्टी एवं बहुजन संघर्ष दल तथा अन्य उम्मीदवार को बढ़त है.

आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री चौहान बुधनी व विदिशा से, राज्य सरकार की मंत्री अर्चना चिटनीस बुरहानपुर, दमोह से जयंत मलैया, देवास से तुकोजीराव पंवार, महू से कैलाश विजयवर्गीय बढ़त बनाए हुए है. वहीं कांग्रेस के प्रमुख नेता अजय सिंह चुरहट से पूर्व मंत्री सत्यदेव कटारे अटेर से, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह राघौगढ़ से आगे चल रहे हैं. इसके अलावा भोजपुर से सुरेश पचौरी पीछे चल रहे हैं.

राज्य में लगभग 25 विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं जहां भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार एक हजार से कम मतों के अंतर से आगे चल रहे है. अभी कई राउंड की गणना बाकी है.

इस मतगणना के कार्य में 20 हजार से ज्यादा अधिकारी व कर्मचारी लगे हुए हैं. आब्जर्वर और माइक्रो आब्र्जवर भी तैनात किए गए हैं. विधानसभा चुनाव में कुल 2583 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. इसमें पुरुष 2383 और 200 महिलाएं अपनी किस्मत आजमा रही है, जिसका रविवार को फैसला होने वाला है.

राज्य के विधानसभा चुनाव में भाजपा के जिन नेताओं के भाग्य का फैसला रविवार को होने वाला है, उनमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री व राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री बाबूलाल गौर, कैलाश विजयवर्गीय, लक्ष्मीकांत शर्मा, गोपाल भार्गव, अनूप मिश्रा, सरकार के प्रवक्ता नरोत्तम मिश्रा और जयंत मलैया शामिल हैं.

इसके अलावा भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती के भतीजे राहुल सिंह सहित राज्य के कई वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री सुंदर लाल पटवा, कैलाश जोशी, वीरेंद्र सखलेचा, कैलाश सारंग के परिजन की किस्मत ईवीएम से बाहर निकलने वाली है.

भाजपा का मुख्य मुकाबला कांग्रेस से है. कांग्रेस के उम्मीदवार पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह,, पूर्व विधानसभाध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के पुत्र सुंदरलाल तिवारी व नाती विवेक तिवारी की राजनीतिक किस्मत आज सामने आ जाएगी. इसके अलावा, पूर्व मंत्री के पी सिंह, यादवेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री मुकेश नायक को पवई, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय िंसंह को पुत्र जयवर्धन सिंह के भाग्य का भी फैसला रविवार को हो जाएगा.

रविवार की सुबह से ही राज्य में गहमागहमी है. राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता सुबह से ही अपने अपने उम्मीदवारों के साथ मतगणना स्थल पर पहुंच गए हैं. वहीं कई बड़े नेता अपने आवास पर ही रहकर मतगणना पर नजर रखे हुए हैं.

Tags: , , ,