मंत्री पुत्र निर्भया एक्ट में अरेस्ट

Sunday, March 6, 2016

A A

रावेला सुशील-मंत्री पुत्र

हैदराबाद | समाचार डेस्क: हैदराबाद में एक मंत्री का बेटा निर्भया एक्ट के तह गिरफ्तार कर लिया गया है. उस पर आरोप है कि उसने एक महिला का पीछाकर उसे अपने गाड़ी में खींचने का प्रयास किया था. उल्लेखनीय है कि इससे पहले हैदराबाद पुलिस ने महिला से कथित तौर पर दुर्व्यवहार को लेकर शनिवार को प्रदेश के एक मंत्री के बेटे और उसके ड्राइवर के खिलाफ एक मामला दर्ज किया था. आंध्र प्रदेश के समाजिक व जनजाति कल्याण मंत्री रावेला किशोर बाबू के बेटे रावेला सुशील तथा उनके ड्राइवर रमेश के खिलाफ निर्भया अधिनियम की धारा 354 (डी) के तहत एक मामला दर्ज किया गया था.

इससे पहले, बंजारा हिल्स पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक ने दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 41ए के तहत उन्हें नोटिस जारी किया था. सुशील से बंजारा हिल्स पुलिस थाने में पुलिस अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए कहा गया.

पुलिस उपायुक्त वेंकटेश्वर राव ने कहा था कि यदि वे 48 घंटे के अंदर नहीं पेश होते हैं तो उनके खिलाफ कानून सम्मत कार्रवाई की जाएगी.

यह घटना गुरुवार को बंजारा हिल्स के पड़ोस में उस वक्त घटी, जब गाड़ी में बैठे सुशील ने एक महिला का पीछा किया, उसका हाथ पकड़ा और उसे गाड़ी के अंदर खींचने का प्रयास किया.

महिला ने कहा कि ड्राइवर ने भद्दी-भद्दी टिप्पणियां कीं और दोनों ने उसे कार में बैठने के लिए कहा.

महिला द्वारा मदद मांगने पर स्थानीय लोगों ने दोनों को पकड़ लिया. बाद में दोनों को पुलिस थाने लाया गया.

शिकायत पर पुलिस ने केवल ड्राइवर अप्पा राव के खिलाफ एक मामला दर्ज किया और सुशील को जाने दिया.

इसके बाद कुछ टेलीविजन चैनलों ने शुक्रवार को यह खबर दिखाई और बताया कि मामले में मंत्री के बेटे का नाम दर्ज नहीं है.

वहीं, ड्राइवर अप्पा राव ने भी भीड़ के खिलाफ एक मामला दर्ज कराया और उसपर अपने मालिक पर हमला करने का आरोप लगाया.

इस बीच, महिला संगठनों ने सुशील की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है. बंजारा हिल्स प्रमंडल की पार्षद विजयलक्ष्मी ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मुलाकात की और मंत्री के बेटे के खिलाफ मुकदमा कर उसे गिरफ्तार करने की मांग की.

तेलंगाना राष्ट्र समिति की नेता विजयलक्ष्मी ने कहा कि यदि तत्काल कोई कार्रवाई न की गई, तो महिलाएं व्यापक आंदोलन करेंगी.

इस बीच, मंत्री ने कहा कि पुलिस की जांच में यह पता चलेगा कि अपराध हुआ है या नहीं.

किशोर बाबू ने यह स्पष्ट किया है कि इस मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा.

उन्होंने कहा, “कानून व संविधान में मेरी पूरी आस्था है.”

Tags: , , , ,