हॉकी में 16 वर्ष बाद स्वर्ण

Thursday, October 2, 2014

A A

एशियाई खेल

इंचियोन | एजेंसी: भारत की पुरुष हॉकी टीम ने मौजूदा चैम्पियन पाकिस्तान को हराकर एशियाई खेलों का स्वर्ण पदक जीत लिया. भारत ने इसके साथ ही रियो ओलम्पिक-2016 के लिए भी क्वालीफाई कर लिया. भारत ने आठ बार की चैम्पियन पाकिस्तान पर पेनाल्टी शूटआउट के आधार पर 4-2 से जीत हासिल करते हुए 16 वर्ष बाद स्वर्ण जीता. निर्धारित समय तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं. भारत ने तीसरी बार एशियाई खेलों में स्वर्ण जीता है.

शियोनाक हॉकी स्टेडियम में खेले गए इस मैच का पहला गोल पाकिस्तान के मोहम्मद रिजवान सीनियर ने तीसरे मिनट में किया. यह एक उम्दा फील्ड गोल था.

इसके बाद बराबरी का गोल करने के लिए भारत को अगले 24 मिनट तक इंतजार करना पड़ा. उसके लिए बराबरी का गोल कोथाजीत सिंह ने 27वें मिनट में किया.

भारत की ओर से पेनाल्टी शूटआउट में आकाशदीप सिंह, रुपिंदर पाल सिंह, बिरेंदर लाकड़ा और धरमवीर सिंह ने गोल किए, जबकि पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद वकास और शफकत रसूल ही गोल कर सके.

भारतीय गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश ने पाकिस्तान के दो हमलों को नाकाम किया.

भारतीय पुरुष टीम इससे पहले बैंकॉक में 1966 में और 1998 में दोबारा बैंकॉक की मेजबानी में स्वर्ण पदक हासिल कर चुका है. 1966 में जहां भारतीय टीम ने फाइनल में पाकिस्तान को मात दी थी, वहीं 1998 में उन्होंने दक्षिण कोरिया को हराया था.

भारत को पाकिस्तान के बीच एशियाई खेलों का यह नौवां फाइनल मुकाबला था, जिसमें भारत को दूसरी बार जीत मिली है. भारत और पाकिस्तान इससे पहले 1990 में बीजिंग में हुए एशियाई खेलों के फाइनल में भिड़े थे, जिसमें पाकिस्तान को जीत मिली थी.

Tags: , , ,