फेसबुक से पर्यटन को बढ़ावा

Sunday, December 29, 2013

A A

फेसबुक पर टिप्पणी

तिरुवनंतपुरम | एजेंसी: फ्रेंच और जर्मन भाषी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए दो नए फेसबुक पेज शुरू किए हैं. पहली बार देश में किसी राज्य के पर्यटन विभाग ने विदेशी भाषा में फेसबुक पृष्ठ बनाया है.

पेजों में आगंतुकों को यहां आने के लिए उनकी तैयारी में मदद करने और अन्य लोगों के द्वारा ‘गॉड्स ओन कंट्री’ में हासिल अनुभव को समझने में मदद करने के लिए फ्रेंच में डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट फेसबुक डॉट कॉम स्लैश केरलाटूरिज्मेऑफीशियल्स और जर्मन में डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट फेसबुक डॉट कॉम स्लैश केरलाटूरिज्मस स्थलों का ब्योरा दिया गया है.

वर्ष 2009 में शुरू किये गये, केरल पर्यटन फेसबुक पेज के आज 85 हजार प्रशंसक हैं.

फ्रांस ब्रिटेन के बाद केरल के लिए दूसरा सबसे बड़ा विदेशी बाजार है. पिछले साल लगभग एक लाख फ्रांसीसी पर्यटकों ने राज्य का दौरा किया था. इसके अलावा आयुर्वेद उपचार के लिए राज्य में पहुंचने वाले विदेशी पर्यटकों की सूची के शीर्ष रैंकिंग में जर्मनी का नाम भी दर्ज है इसलिए जर्मनी भी केरल के लिए एक महत्वपूर्ण बाजार है.

केरल के पर्यटन मंत्री ए. पी. अनिल कुमार ने कहा, “हमारे लिए दुनिया की विभिन्न भाषाओं में संवाद करना बहुत महत्वपूर्ण है.” उन्होंने कहा, “दुनिया भर में केरल को पसंद करने वाले लोगों के बीच जब हम उनकी अपनी भाषा में बात करते हैं तो इससे काफी अंतर पड़ता है.”

फ्रेंच और जर्मन पृष्ठ फोटो और विवरण के साथ इंटरैक्टिव हैं और मुन्नार के बैकवाटर्स और लोकप्रिय हिल स्टेशन से लेकर कोन्नि में हाथी शिविरों तक राज्य भर में प्रमुख स्थलों की एक झलक प्रदान कर रहे हैं.

केरल पर्यटन ने पिछले महीने पेरिस और बार्सिलोना में रोड शो का आयोजन किया था. इसके अलावा सितंबर में फ्रांस में प्रमुख पर्यटन उद्योग मेला ‘टॉप रेजा’ में भी भाग लिया था.

केरल पर्यटन की वेबसाइट को कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुके हैं. केरल पर्यटन के ट्विटर अकाउंट के 20,425 से अधिक फॉलोअर्स हैं और इसे देश में पर्यटन बोर्डो के बीच सबसे अधिक फॉलो किया जाता है.

Tags: , , ,