मोदी किसान आत्महत्या का सच बताये?

Thursday, February 18, 2016

A A

दिग्विजय सिंह

पणजी | समाचार डेस्क: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री से भाजपा सांसद के किसान विरोधी बयान पर सफाई मांगी है. एक तरफ प्रधानमंत्री मोदी मध्य प्रदेश के सीहोर से ‘प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना’ की औपचारिक शुरुआत कर रहें हैं वहीं, दूसरी तरफ उनकी पार्टी के सांसद गोपाल शेट्टी ने बयान दिया है कि किसानों के बीच आत्महत्या करना फैशन बन गया है. शेट्टी के कहे अनुसार सभी किसान भूख तथा बेरोजगारी के कारण आत्महत्या नहीं करते हैं. उन्होंने किसानों को दी जा रही मुआवजा राशि का माखौल उड़ाते हुये कहा आजकल मुआवजा राशि देने की होड़ लग गई है. जाहिर है कि सांसद शेट्टी का यह बयान प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा मध्य प्रदेश के सीहोर में जो भाषण दिया जा रहा है उसके विपरीत है.

विरोधी कांग्रेस भी इस मौके को गंवाना नहीं चाहती है. इसी कारण कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने तुरंत ही गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारतीय जनता पार्टी के सांसद गोपाल शेट्टी के उस बयान पर सफाई मांगी, जिसमें उन्होंने किसानों की आत्महत्या पर कहा था कि आजकल किसानों के बीच आत्महत्या करना फैशन बन गया है. दिग्विजय सिह ने पणजी के कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से कहा कि मोदी को बताना चाहिए कि किसान फैशन में आत्यहत्या कर रहे हैं या असहाय होकर आत्महत्या कर रहे हैं.

गोवा में कांग्रेस के प्रभारी दिग्विजय ने कहा कि भाजपा की किसानों के प्रति हमदर्दी झूठी है.

इससे पहले मुंबई उत्तर से भाजपा के लोकसभा सांसद शेट्टी ने कहा था, “सभी किसान भूख और बेरोजगारी के कारण आत्महत्या नहीं करते हैं, बल्कि आजकल यह फैशन बन गया है. यदि महाराष्ट्र सरकार पांच लाख रुपये दे रही है, दूसरी सरकार सात लाख और आठ लाख रुपये दे रही है. यहां किसानों को आत्महत्या के बाद मुआवजा राशि देने की होड़ है.”

Tags: , , , , , , ,