छत्तीसगढ़: कैदियों की भूख हड़ताल खत्म

Tuesday, October 4, 2016

A A

prisoner strike

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में 2000 कैदियों की भूख हड़ताल खत्म हो गई है. 2 अक्टूबर के दिन रायपुर के सेन्ट्रल जेल में शुरु हुया यह भूख हड़ताल हाई प्रोफाइल ड्रामें के बाद सोमवार शाम खत्म हो गया है. कैदियों को भूख हड़ताल के लिये उसकाने वाले एमसीएक्स कारोबारी नितिन चोपड़ा, हत्या के आरोपी मोनू उर्फ तंजील तथा कथित नक्सली समर्थक वीरेन्द्र कुर्रे को अलग-अलग कर दिया गया है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ महीनों पहले भिलाई के सीमेंट फैक्ट्री में तोड़-फोड़ व आगजनी के आरोपी वीरेन्द्र कुर्रे को बेमेतरा जेल स्थांनातरित कर दिया गया है.

बताया जा रहा है कि रविवार रायपुर के सेन्ट्रल जेल में शुरु हुये भूख हड़ताल कर रहे कैदियों की पहले 16 मांगें थी जो सोमवार को बढ़कर 22 हो गई थी. जिसमें से 10 जायज़ मांगें मान ली गई है.

भूख हड़ताल पर बैठे कुछ आदतन अपराधियों ने अपने पास पत्थर तथा धारदार हथियार रख लिये थे. जिससे निपटने के लिये प्रशासन ने 200 बलवारोधी जवानों को तैयार रखा था.

कैदियों से बात करने डीजीपी जेस गिरधारी नायक, रायपुर के जिला कलेक्टर ओपी चौधरी तथा रायपुर के जिला पुलिस अधीक्षक डॉ. संजाव शुक्ला पहुंचे थे.

Tags: , , , , , ,