आठ साल पुराना नक्सली बम बरामद

Sunday, July 31, 2016

A A

आईईडी बम

रायपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ पुलिस ने साल 2008 में लगाये गये 40 किलो के बम को बरामद किया है. नक्सलियों ने आठ साल पहले स्टील के कंटेनर में इस 40 किलो के आईईडी बम को जगदलपुर-दंतेवाड़ा मार्ग नेशनल हाइवे 63 पर लगाया था. इस बम की बरामदगी से एक बड़े हादसे को टाला जा सका है.

छत्तीसगढ़ पुलिस को बस्तर में आत्मसमर्पण करने वाले नक्सली रमेश से इस बम के बाबत् सूचना मिली थी. रमेश ने छत्तीसगढ़ पुलिस को बताया था कि साल 2008 में नेशनल हाइवे 63 पर बास्तानार चौक से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर 54-55 माइल स्टोन के बीच इस बम को लगाया गया था. यह 40 किलो का इम्प्रोवाइज़्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस एक स्टील के कंटेनर में लगाया था.

सूचना मिलने पर पुलिस के बम निरोधक दस्ते ने रविवार को इस बम को बरामद किया है. समय रहते अगर यह विस्फोटक नहीं मिलता तो ताबाही की बड़ी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है. आत्मसमर्पित माओवादी के पास से पुलिस को नक्सल संगठन के संबंध में कई अहम जानकारियां मिली है जो पुलिस के लिए मददगार साबित होंगी.

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के बस्तर में नक्सली इसी तरह के बम लगाकर बड़ी घटनाओं को अंजाम देते रहें हैं.

उल्लेखनीय है कि पिछले ही साल सीआरपीएफ के महानिदेशक प्रकाश मिश्रा ने कहा था कि आईईडी के कारण जवानों को ज्यादा नुकसान उठाना पड़ता है. जितने सीआरपीफ के जवान नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में मारे जाते हैं उससे ज्यादा आईईडी विस्फोट में मर जाते हैं.

हाल ही में 30 मार्च 2016 को बस्तर में नक्सलियों द्वारा किये गये आईईडी ब्लॉस्ट में सीआरपीएफ के सात जवान मारे गये थे. नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के मेलापाड़ा-मोकपाक के बीच लैंड माइन ब्लॉस्ट लगाया हुआ था.

Tags: , , , , , ,