छत्तीसगढ़: मां ने बेटे की बलि ली

Monday, August 29, 2016

A A

बलि प्रथा

रायगढ़ | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ में एक मां ने अपने एक साल के बेटे की बलि ले ली है. रायगढ़ के पास स्थित तमनार में ब्याही दशोदा राठिया ने अपने मायके घरघोड़ा में अपने बेटे का गर्दन हंसिये से काट डाला. पुलिस ने दशोदा के पति श्रवण कुमार राठिया की शिकायत पर दशोदा को गिरफ्तार कर लिया है.

मिली जानकारी के अनुसार दशोदा अपने ससुराल में कुछ दिनों से बहकी-बहकी बातें कर रही थी. इसीलिये उसका पति श्रवण कुमार राठिया उसे लेकर उसके मायके घड़घोड़ा आया हुआ था. श्रवण ने दशोदा के पिता से बताया कि उसने पत्नी को बैगा को दिखाया है जो कुछ दिनों बाद लेकर आने की बात कर रहा है. उसने ससुर से गाड़ी की व्यवस्था करने के लिये कहा.

एक तरफ श्रवण तथा उसका ससुर, दशोदा के इलाज की व्यवस्था कर रहे थे कि शनिवार सुबह उसने अपने बेटे को दूध पिलाने की बात कहकर एक कमरे में चली गई. दशोदा ने कमरा अंदर से बंद कर दिया था. जब अंदर से आवाजे आई तो परिवार के दूसरे सदस्य कमरे में गये. वहां जाकर उन्होंने देखा कि दशोदा ने अपने एक साल के बेटे की गर्दन हंसिये से काट दी है.

इससे पहले भी रायगढ़ में गरीबी से तंग आकर एक व्यक्ति ने अपने बेटे की बलि चढ़ा दी थी.

Tags: , ,