‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 62 वर्ष

Saturday, August 9, 2014

A A

रमन सिंह छत्तीसगढ़

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने ‘अंग्रेजों भारत छोड़ों’ के 62 वर्ष पूर्ण होने पर शहीदों को श्रद्धाजलिं दी. रमन सिंह ने 9 अगस्त को तत्कालीन अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 62 वर्ष पूर्ण होने पर स्वतंत्रता संग्राम में इस महत्वपूर्ण जन आंदोलन की भूमिका को याद किया. रमन ने इस राष्ट्रीय आंदोलन में शहीद देशवासियों और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की.

मुख्यमंत्री ने इस आंदोलन की वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर राजधानी रायपुर में जनता के नाम जारी संदेश में कहा है कि अगस्त क्रांति के नाम से प्रसिद्ध ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ हमारे स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास का एक यादगार और महत्वपूर्ण अध्याय है.

उन्होंने कहा कि आज अगर हम सवा सौ करोड़ भारतवासी आजादी और लोकतंत्र की खुली हवा में सांस ले रहे हैं, तो इसका सबसे बड़ा श्रेय हमारे देश के सुदीर्घ स्वतंत्रता संग्राम के साथ-साथ ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ को भी दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि अंग्रेजी हुकूमत की गुलामी के बंधनों से भारत माता को मुक्ति दिलाने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आह्वान पर पूरे देश में 9 अगस्त 1942 को यह आंदोलन शुरू हुआ था.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी वर्तमान और भावी पीढ़ियों को देश के स्वतंत्रता आंदोलन के गौरवशाली लम्बे इतिहास को जरूर पढ़ना चाहिए, ताकि भारत की अनमोल आजादी के महत्व को हम सब गंभीरता से महसूस कर सकें और राष्ट्रीय एकता की रक्षा के लिए तत्पर होकर राष्ट्र के विकास में भी अपना योगदान दे सकें.

Tags: , , , , , ,