दिल्ली ले जाई जा रहीं 5 युवतियां छुडाई गईं

Sunday, September 8, 2013

A A

बच्चों की मानव तस्करी

अंबिकापुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ की आदिवासी युवतियों को काम दिलाने का झांसा देकर दिल्ली ले जा रही एक महिला को पुलिस ने अंबिकापुर रेलवे स्टेशन पर गिरफ्तार कर उसके चंगुल से पांच युवतियों को छुड़ाया है.

इनमें से एक युवती से सौ डॉलर का नोट भी बरामद हुआ है. सभी युवतियां जशपुर जिले की हैं. कोतवाली पुलिस ने पकड़ी गई महिला से पूछताछ के बाद मामला जयनगर थाना का होने का कारण वहां की पुलिस को इन्हें सौंप दिया गया.

बताया गया कि कुनकुरी की महिला लिली एक्का इन युवतियों को ले जाने अंबिकापुर स्टेशन आई थी. इसी दौरान किसी ने कोतवाली को सूचना दी. कोतवाली पुलिस सभी को अपने साथ लेकर थाने ले आई और इनसे पूछताछ कर सभी को जयनगर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया.

जयनगर पुलिस ने तीन किशोरियों एवं युवतियों का अलग-अलग बयान दर्ज कर सभी को पिलखा के नायब तहसीलदार की अदालत में पेश किया.

पुलिस ने बताया कि डॉलर के साथ पकड़ी गई युवती सरिता टोप्पो हरियाणा के गुड़गांव में काम करती है. उसने अपने बयान में बताया कि जहां वह काम करती है, वहीं के एक युवक ने उसे डॉलर दिया था. उसने यह भी बताया कि दिल्ली ले जाई जा रहीं युवतियों से उसका कोई संबंध नहीं है. वह गुड़गांव जाने के लिए निकली थी, तभी स्टेशन में बाकी लोग मिल गए.

गिरफ्तार की गई महिला लिली एक्का दिल्ली की एक प्लेसमेंट एजेंसी में काम करती है. उसने कबूल किया कि वह तीन युवतियों को अपने साथ दिल्ली ले जा रही थी, अन्य दो युवतियां अपनी मर्जी से दिल्ली जा रही थीं.