‘आप’ ने पुराने वायदे दोहराये

Saturday, January 31, 2015

A A

आप का चुनाव चिन्ह

नई दिल्ली | एजेंसी: ‘आप’ ने शनिवार को जारी अपने घोषणा-पत्र में पुराने वादों को दोहराया है. जिसमें दिल्ली की जनता को सस्ते में बिजली-पानी मुहैय्या कराने की बात की गई है. इसी के साथ अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पर घोषणा-पत्र जारी नहीं किये जाने के लिये सवाल दागे हैं. आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को अपना घोषणा-पत्र जारी किया. इसमें सत्ता में आने पर दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने, महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और बिजली के बिल कम करने की बात कही गई है. आप के घोषणा-पत्र के मुताबिक, सत्ता में आने पर वह महिलाओं की सुरक्षा के लिए जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाएगी.

घोषणा-पत्र में 20 नए कॉलेज खोलने, बिजली के बिलों में 50 फीसदी की कमी, सस्ती दर पर स्वच्छ पेयजल मुहैया कराने और नि:शुल्क वाई-फाई जोन बनाने का वादा भी किया गया है.

घोषणा-पत्र जारी करते हुए पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह उनके लिए ‘गीता, बाइबिल, कुरान तथा गुरु ग्रंथ साहिब’ की तरह ही पवित्र है.

उन्होंने कहा कि पार्टी अपने घोषणा-पत्र में किए गए सभी वादों को पूरा करेगी, जैसा कि वह अपने 49 दिन के पूर्ववर्ती कार्यकाल के दौरान कर चुकी है.

भारतीय जनता पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए केजरीवाल ने कहा कि यह पार्टी इसलिए घोषणा-पत्र नहीं जारी कर रही, क्योंकि इसने लोकसभा चुनाव के समय जो वादे किए थे, उन्हें अब तक पूरा नहीं किया.

आप नेता ने कहा, “वादों को पूरा करने की बात तो दूर, भाजपा ने इस दिशा में कोई कदम तक नहीं उठाए हैं.”

उन्होंने कहा, “भाजपा ने महंगाई कम करने की बात कही थी, लेकिन वह जस की तस बरकरार है. उन्होंने बिजली के दाम कम करने की बात भी कही, लेकिन घटाने के बजाय सत्ता में आने पर इसे दो बार बढ़ा दिया. भ्रष्टाचार खत्म करने की योजना के साथ भी यही हुआ.”

गौरतलब है कि भाजपा ने घोषणा की है कि वह दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा-पत्र जारी नहीं करेगी, बल्कि ‘विजन डॉक्यूमेंट’ जारी करेगी.

कांग्रेस के संबंध में केजरीवाल ने कहा कि 15 साल उनका शासन रहा. इस दौरान उन्होंने तीन घोषणा-पत्र जारी किए, लेकिन यह दुखद है कि इनमें किए गए अधिकांश वादों को पूरा नहीं किया जा सका.

दिल्ली विधानसभा चुनाव के तहत सात फरवरी को मतदान होंगे, जबकि मतगणना 10 फरवरी को होगी.

Tags: , , , , , ,