मुजफ्फरनगर हिंसा में अब तक 44 मारे गये

Friday, September 13, 2013

A A

कर्फ्यू

लखनऊ | एजेंसी: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हुई हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 44 तक पहुंच गया है. राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक अरुण कुमार ने शुक्रवार को बताया कि तेजी से सुधरते हालात के मद्देनजर तीनों थाना क्षेत्रों-सिविल लाइन, कोतवाली और नई मंडी में आज से दिन का कर्फ्यू हटाने का निर्णय लिया गया है. अब केवल रात के वक्त ही कर्फ्यू प्रभावी रहेगा. छूट की अवधि एक घंटा और बढ़ाई जा सकती है. मुजफ्फरनगर हिंसा की किसी नई घटना की सूचना नहीं है.

गौर तलब है कि हिंसा में करीब चालीस हजार लोग बेघर हो चुके हैं, जो राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं. पीड़ितों की मदद के लिए करीब 38 राहत शिविर बनाए गए हैं. मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि प्रशासन की तरफ से पीड़ितों की मदद के हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि सहायता शिविरों की देखभाल के लिए अलग से नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं.

ज्ञात्वय रहे कि मुजफ्फरनगर के कवाल इलाके में लगभग दो सप्ताह पूर्व छेड़छाड़ की एक घटना के बाद भड़की हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई थी. इसी घटना को लेकर शनिवार को महापंचायत बुलाई गई थी. महापंचायत से लौट रहे लोगों पर शरारती तत्वों ने पथराव किया, जिसके बाद जिले में हिंसा भड़क उठी थी.

Tags: ,