विजय रूपाणी फिर बने मुख्यमंत्री

गांधीनगर | संवाददाता: गुजरात में विजय रूपाणी फिर से मुख्यमंत्री बनाये गये हैं. मंगलवार को उन्होंने दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इसके साथ ही गुजरात में मुख्यमंत्री के पद को लेकर चलने वाली अटकलों का दौर खत्म हो गया है. विजय रूपाणी के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल थे.

विजय रूपाणी के अलावा जिन लोगों ने शपथ ली है, उसमें 6 पाटीदार नेता भी शामिल हैं. राज्य के ताकतवर नेता नितिन पटेल को उप मुख्यमंत्री का पद दिया गया है. कुल 19 मंत्रियों में जिन लोगों को शामिल किया गया है, उनमें जातिगत समीकरण का पूरा ध्यान रखा गया है.


कैबिनेट मंत्रियों में शामिल गणपत वसावा सबसे मजबूत आदिवासी चेहरा, जिसने दक्षिण गुजरात मे पार्टी को पैंठ बनाने में खासी मदद की है. लगातार चौथी बार सूरत जिले की मांगरोल सीट से चुनाव जीते हैं. रुपाणी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे इसके अलावा. विधान सभा मे स्पीकर भी रह चुके हैं. मोदी और आनंदीबेन मंत्रिमंडल में भी रह चुके हैं. इसी तरह जामनगर दक्षिण से विधायक आर सी फलदू लेउवा पटेल समाज से ताल्लुक रखते है. 2 बार गुजरात भाजपा के अध्यक्ष रह चुके हैं. पाटीदारो के घोर विरोध के बीच सौराष्ट्र रीजन से जीत कर तीसरी बार विधायक चुनकर आये हैं.

इसी तरह भूपेंद्र सिंह चुडासमा रुपाणी सरकार ने सीनियर मंत्री रहे हैं. शिक्षा और राजस्व जैसे महत्वपूर्ण विभाग इनके पास थे. अहमदाबाद जिले की धोलका सीट से 5वीं बार विधायक के रूप में विधानसभा में चुनकर आये हैं.

कौशिक पटेल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के सबसे भरोसेमंद लोगों में से एक माने जाते हैं और इस बार उन्हीं की खाली की हुई सीट नारणपुरा से चुनाव जीत कर चौथी बार विधायक चुनकर आये हैं. राज्य के राजस्व मंत्री सहित कई मंत्रालयों को संभाल चुके हैं. सौरभ पटेल राज्य में पार्टी का सबसे सॉफिस्टिकेटेड चेहरा है और पाटीदार समाज से ताल्लुक रखते हैं. लगातार 5वीं बार विधायक के रूप में चुने गए हैं. मोदी और आनंदीबेन मंत्रिमंडल में फाइनांस और ऊर्जा सहित कई महत्वपूर्ण मंत्रालय संभाल चुके हैं.

जयेश राधड़िया पाटीदार समाज के बड़े नेता हैं और 2007 का चुनाव कांग्रेस के टिकट पर जीत कर 2012 में अपने पिता के साथ भाजपा में शामिल हुए थे. मोदी मंत्री मंडल के साथ-साथ आनंदीबेन और रुपाणी मंत्रिमंडल में भी मंत्री रहे. ओबीसी समाज के बड़े नेता दिलीप ठाकोर पांचवीं बार विधायक चुने गए हैं. जयेश की तरह ये भी मोदी, आनंदीबेन और रुपाणी मंत्रिमंडल में मंत्री रह चुके हैं.

इनके अलावा राज्यमंत्री के तौर पर परबत पटेल, प्रदीप सिंह जडेजा, पुरुषोत्तम सोलंकी, वासन भाई आहिर, ईश्वर सिंह पटेल, कुमार कानानी, विभावरी दवे, बचु खाबड़, रमण पाटकर, ईश्वर परमार, जेद्रथ सिंह परमार ने शपथ ली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!