तेजस्वी यादव भड़के नीतीश की अंतरआत्मा पर

पटना | संवाददाता: राजद नेता तेजस्वी यादव ने पनामा पेपर्स और व्यापम घोटालों की जांच की मांग की है.उन्होंने कहा है कि सीबीआई ने सरकार के इशारे पर उन्हें निशाना बनाया. तेजस्वी ने कहा कि अगर सीबीआई निरपेक्ष है तो उसे पनामा और मध्यप्रदेश के व्यापम घोटाले की भी जांच करनी चाहिये.

बिहार के उप मुख्यमंत्री रहे तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को लेकर कहा कि नीतीश कुमार किस नैतिकता की बात करते हैं. क्या यह कुर्सी आत्मा है, या लालच आत्मा है, या डर आत्मा है या मोदी आत्मा हैं. बिहार की जनता जानना चाहती है कि किस नैतिकता के आधार पर पूर्व सरकार को गिराया गया. नीतीश कुमार अपनी सहूलियत के मुताबिक अंतरात्मा जगाते हैं. तेजस्वी ने कहा कि नीतीश ने वोट की डकैती की है. आपने जो भूल किया है, पाप किया है उस पर आपसे ज़िंदगी भर बिहार की जनता पूछने का काम करेगी. ज़िंदगी भर आपको इन सवालों का जवाब देना पड़ेगा.


उन्होंने आरोप लगाया कि जातिवाद की राजनीति तो आप कर रहे हैं. जब मायावती, अखिलेश समेत सभी वो नेता मंडल के लोगों को एक करने की बात कर रहे थे तो आपने धोखा दिया. सब की एकता की बात की जा रही थी, लेकिन नीतीश कुमार ने ‘हे राम’ से ‘जय श्री राम’ में पलटी मार ली. यादव ने कहा कि नीतीश कुमार के मंत्री भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, क्या इस्तीफ़ा देंगे. इनके मंत्रियों का पर्दाफ़ाश करेंगे. परिवारवाद, पुत्र मोह का आरोप लगाते हैं. तो बताएं पशुनाथ पारस कौन हैं? न विधायक हैं और न ही कोई जनाधार, उनको मंत्री क्यों बनाया गया? बीजेपी के कई नेता के परिवार वालों को चुनाव हारने के बाद भी मंत्री बनाया जा रहा है, कहां गई नीतीश कुमार की अंतरात्मा?

तेजस्वी ने कहा कि भाजपा ने मुख्यमंत्री जी को गालियां दी थीं अब उस पर क्या राय है? मोदी जी ने नीतीश जी का डीएनए ख़राब है बोला था, उस पर अब उनकी या भाजपा वालों की क्या राय है? यादव ने कहा कि जनता नीतीश कुमार का सच जान चुकी है और अबकि चुनाव में उन्हें धुल चटा देगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!