यूपी में ‘अच्छे दिनों’ का विरोध

लखनऊ | एजेंसी: उत्तरप्रदेश में मोदी सरकार के ‘अच्छे दिनों’ का विरोध शुरु हो गया है. इलाहाबाद में सपा के कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद से लखनऊ जा रही गंगा गोमती एक्सप्रेस को काफी देर तक रोके रखा. उन्होंने इलाहाबाद जंक्शन से प्रयाग स्टेशन की ओर बढ़ रही गंगा गोमती एक्सप्रेस को सोहबतियाबाग में डट के पुल के पास रोक दिया.

‘अच्छे दिन’ लाने का वादा और ‘गरीबों की सरकार’ होने का दावा करने वाली केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की ओर से रेल किराये और मालभाड़े में की गई भारी वृद्धि का उत्तर प्रदेश में जगह-जगह विरोध हो रहा है. प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जहां इलाहाबाद में प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंका, वहीं कांग्रेस समर्थकों ने भी विधान भवन के सामने प्रदर्शन किया.

इन लोगों ने किराया बढ़ोतरी पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. पुलिस के आने के बाद ट्रेन को करीब 45 मिनट बाद रवाना किया गया. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आज सबसे अधिक रेल से युवा ही यात्रा करते हैं मोदी सरकार के इस फैसले से युवाओं को काफी निराशा हाथ लगी है. उन्होंने कहा कि रेल किराये और मालभाड़े में हुई वृद्धि वापस ली जाए. जब तक यह फैसला वापस नहीं लिया जाएगा, सपा कार्यकर्ता प्रदर्शन जारी रखेंगे.

लखनऊ में भी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने विधान भवन के सामने प्रदर्शन किया. कार्यकर्ताओं ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला भी फूंका. इस दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री इस प्रदर्शन में मौजूद रहे.

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कहा कि मोदी ने चुनाव के समय अच्छे दिन लाने का वादा किया था, लेकिन अब सरकार बनने के बाद रेल किराये में वृद्धि कर दी गई, जो जनता की उम्मीदों के विपरीत है.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने शुक्रवार को रेल यात्री किराये में 14.2 तथा मालभाड़े में 6.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया. बढ़ोतरी 25 जून से लागू होगी.

error: Content is protected !!