मप्र को NHRC ने नोटिस जारी किया

नई दिल्ली | संवाददाता: मानवाधिकार आयोग ने मप्र सरकार को नोटिस जारी किया है. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने 31 अक्टूबर को भोपाल सेन्ट्रल जेल से भागे सिमी के 8 विचाराधीन कैदियों के पुलिस एनकाउंटर पर स्वतः संज्ञान लेते हुये यह नोटिस जारी किया है. आयोग मे मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव, जीडीपी पुलिस, डीजी जेल, आईजीपी जेल और मध्यप्रदे्श सरकार को नोटिस जारी कर छः हफ्तों में विस्तृत जानकारी देने का आदेश दिया है.

आयोग का कहना है कि वह हमेशा पुलिस और न्यायिक हिरासत तथा पुलिस कार्रवाई में होने वाली मौतों के बारे में चिंतित रहता है.

उल्लेखनीय है कि 31 अक्टूबर को भोपाल की सेन्ट्रल जेल से सिमी के 8 विचाराधीन कैदी भाग गये थे. उन्होंने भागते समय एक जेल प्रहरी की हत्या भी कर दी थी.

इनमें से तीन विचाराधीन कैदी पहले मध्यप्रदेश की खंडवा जेल से भाग चुके हैं जिन्हें ओडिशा से फिर गिरफ्तार किया गया था.

सिमी के विचाराधीन कैदियों पर हत्या, राजद्रोह, जेल तोड़ने तथा बैंक लूटने के आरोप थे.

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मीडिया रिपोर्ट के आधार पर मामले का स्वतः संज्ञान लिया है जिसमें कहा गया है कि जेल तोड़कर भागने के घंटे के भीतर ही उन्हें जेल से 15 किलोमीटर दूर पृथक वन क्षेत्र में मार गिराया गया था.

पुलिस अफसरों का कहना है कि भागने वाले कैदियों द्वारा गोली चलाने के बाद ही पुलिस ने गोलियां चलाना शुरु किया था. पुलिस ने पहले भगोड़ों से आत्मसमर्पण करने को कहा था.

इस सिलसिले में जेल के पांच अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है जिसमें डीआईजी जेल तथा जेल अधीक्षक शामिल हैं. इसके अलावा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जेल को स्थानांतरित कर दिया गया है.

error: Content is protected !!