लालू यादव हैं मीडिया के डार्लिंग-नीतीश कुमार

पटना | संवाददाता: नीतीश कुमार का कहना है कि लालू यादव मीडिया के डार्लिंग हैं और वे मीडिया में बने रहने के लिये तरह-तरह के बयान देते हैं. केंद्रीय मंत्रीमंडल के विस्तार में जदयू को नहीं बुलाये जाने और उनकी पार्टी को मंत्रीमंडल में शामिल नहीं किये जाने को लेकर नीतीश पर लालू यादव ने तंज कसा था कि जदयू के नेता कुर्ता-पायजामा और बंडी पहन कर बैठे रहे लेकिन मोदी ने न्यौता नहीं दिया.

लालू ने कहा था कि यहां जो इज्‍जत थी, जो प्रतिष्‍ठा थी वह वहां नहीं मिलने वाली. लालू ने कहा कि जो बंदर समूह में रहते हुए गाछ पर से गिर जाता है उसे फिर से गिरोह में नहीं मिलाया जाता है. ये छटुआ बंदर के रूप में हैं.


जदयू के पार्टी प्रवक्ता केसी त्यागी ने भी कहा था कि उनकी पार्टी को इस आयोजन में बुलाया भी नहीं गया. नीतीश इन्हीं बातों का जवाब दे रहे थे.

उन्होंने लालू यादव का नाम लिये बिना कहा कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में हिस्सेदारी के लिए न कभी सोचा, न कभी इसकी अपेक्षा रही. लेकिन, इस बेवजह की बात को लेकर तरह-तरह की बातें की जा रही हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि जब मीडिया में बातें होने लगीं तो आप लोगों के ‘डार्लिंग’ बने लोगों को भी बोलने का मौका मिल गया. उन्होंने कहा कि लालू यादव की बातों को कोई गंभीरता से नहीं लेता. इसलिये उसे मीडिया भी महत्व देना बंद कर दे.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें जो कहना हो कहते रहें, हम बिहार की जनता के प्रति, बिहार के हित के प्रति और बिहार के विकास के प्रति जवाबदेह हैं. केंद्रीय मंत्रिमंडल में जेडीयू की कोई उपेक्षा नहीं हुई है, मीडिया को भी अब यह मामला बंद कर देना चाहिए, क्योंकि इसमें कोई सत्यता नहीं थी. नीतीश ने कहा कि जेडीयू से संबंधित जो भी बात होगी, उसे मैं खुद ही सबको बता दूंगा.

जाहिर है, नीतीश कुमार के तंज पर तो जवाब आना ही था. राजद के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि लालू जी को मीडिया का डार्लिग बोलने वाले नीतीश जी बताएं आप किसके डार्लिंग हैं. मोदी जी, अमित शाह या आरएसएस के?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!