माओवादी समस्या से ऐसे निपटेगी सरकार

नई दिल्ली | संवाददाता: छत्तीसगढ़ में माओवादी समस्या से निपटने के लिये संचार माध्यमों का विस्तार किया जायेगा.

इसके अलावा अधिक से अधिक यूएवी का भी उपयोग किया जायेगा. माओवादियों द्वारा लूटे गये हथियारों का उपयोग रोकने के लिये हथियारों में यूनिक आइडेंटीफिकेशन या थंब इप्रेशन जैसी चीप का सहारा लिया जा सकता है.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने माओवादियों से निपटने के लिये दिल्ली में आयोजित एक बैठक में इस आशय के विचार व्यक्त किये. इस बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह समेत 10 राज्यों के मुख्यमंत्री, वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और सचिव स्तर के अधिकारी शामिल हैं.

आज की बैठक में आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्‍तीसगढ, झारखंड, महाराष्‍ट्र, मध्‍य प्रदेश, ओडीशा, उत्‍तर प्रदेश, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल के मुख्‍यमंत्री पहुंचे हैं. इसके अलावा केन्‍द्र सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, रेलवे मंत्रालय, नागर विमानन मंत्रालय, गामीण विकास मंत्रालय, विद्युत, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय तथा दूरसंचार मंत्रालय के प्रभारी मंत्री भी मौजूद हैं.

गृहमंत्री ने पिछले साल भर की उपलब्धियों पर भी विस्तार से चर्चा की और दावा किया कि 2015 की तुलना में 2016 में माओवादी घटनाओं में कमी आई है.

error: Content is protected !!