नोटबंदी मोदी का साहसिक कदम: चीनी अखबार

नई दिल्ली | संवाददाता: चीन की आधिकारिक मीडिया ने नोटबंदी को भारत के प्रधानमंत्री मोदी का साहसिक कदम बताया है. चीनी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने अपने संपादकीय में कहा है कि भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने मौद्रिक सुधार के लिये बड़ा ही साहसिक जुआ खेला है. अखबार ने अपने संपादकीय में टिप्पणी की है कि इसकी हम चीन में कल्पना तक नहीं कर सकते हैं.

हालांकि संपादकीय में कहा गया है, “नोटबंदी से भ्रष्टाचार और अवैध आर्थिक गतिविधियों के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है लेकिन यह उन गहरी सामाजिक एवं राजनीतिक मामलों को सुलझाने में स्पष्ट रूप से अक्षम है जो पूर्व में बताई गई समस्याओं को बढ़ाने में मददगार हैं.”


Modi takes a gamble with money reform

ग्लोबल टाइम्स के संपादकीय में कहा गया है, “सूचना लीक होने से बचाने के लिए नोटबंदी संबंधी कदम के क्रियान्वयन को खतरे में डालते हुए योजना को गोपनीय रखना पड़ा. मोदी इस समय दुविधा की स्थिति में हैं क्योंकि इस सुधार का मकसद कालेधन को बेकार करना है लेकिन यह प्रक्रिया कोई नई नीति की शुरूआत से पहले जन समर्थन हासिल करने के प्रशासन के सिद्धांत के विपरीत है.”

इसमें कहा गया है, “भारत में 90 फीसदी से अधिक लेन देन नकद में किया जाता है, ऐसे में चलन में मौजूद 85 पीसदी नोटों के प्रतिबंधित होने से लोगों को दैनिक जीवन में बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है.”

अखबार ने कहा है भले ही यह कदम सफल हो या असफल चीन को इससे सबक लेना चाहिये. अखबार ने अपने संपादकीय में टिप्पणी की है कि, “मोदी का कदम बहुत साहसिक है. हम इस बात की कल्पना नहीं कर सकते कि यदि चीन 50 और 100 युआन के नोट बंद देता है तो चीन में क्या होगा.” उल्लेखनीय है कि चीन में सर्वाधिक मूल्य का नोट 100 युआन है.

भले ही देश में कई राजनीतिक दल इस नोटबंदी या इसे लागू करने की प्रक्रिया की आलोचना कर रहें हैं परन्तु पड़ोसी देश चीन की आधिकारिक मीडिया द्वारा शुक्रवार को अपने संपादकीय में इसे साहसिक कदम बताना नोटबंदी के पक्ष में ही जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!